UPSC क्या है? UPSC Full Form, Syllabus, Interview, Exam Pattern

UPSC Kya Hai? UPSC Full Form – नमस्कार दोस्तों, गंगाज्ञान पर आप सबों का फिर से स्वागत है। आज के इस पोस्ट में हम UPSC के बारे में बताने जा रहे हैं। UPSC क्या है? UPSC Full Form क्या होता है? इसका हिंदी नाम क्या होता है ? UPSC कौन कौन सी परीक्षाओं का आयोजन करता है? और UPSC में कौन-कौन सा पोस्ट होता है? UPSC Syllbus क्या है? इन सभी बातों की जानकारी आपको इस पोस्ट में मिलने वाली है।

upsc-kya-hai-full-form

वैसो तो UPSC में बहुत सारे नियुक्ति पद होते हैं जो छोटे-बड़े सभी पोस्ट मिलाकर लगभग 500 से भी ज्यादा पदो पर अधिकारियों की नियुक्ति की जाती है। UPSC में Rank के आधार पर अधिकारियों का चयन किया जाता है। Rank जितना ही अच्छा होता है पोस्टिंग भी उतना ही अच्छे लेवल पर होती है। तो चलिए शुरू करते है और जानते है UPSC के बारे में पूरी जानकारी।

UPSC क्या है? What is UPSC in Hindi?

UPSC भारत सरकार द्वारा स्थापित किया गया एक बेहतरीन गवर्नमेंट एजेंसी है। UPSC भारत देश की सबसे प्रतिष्टित संस्था और कठिन परीक्षा है। जो भारत सरकार के लोकसेवा हेतु अधिकारियों के भर्ती के लिए परीक्षाओं का आयोजन करता है। अर्थात UPSC अखिल भारतीय सेवा और ग्रुप A और ग्रुप B केंद्रीय सेवा के लिए नियुक्ति और परीक्षा के लिए जिम्मेदार एजेंसी है। UPSC का हेडक्वार्टर धौलपुर हाउस, शाहजहां रोड, नई दिल्ली है।

इसकी स्थापना 1 अक्टूबर 1926 ई में लोक सेवा आयोग (Public Service Commission) के नाम से किया गया था जो बाद में भारत के स्वतंत्रता के बाद 1950 में लोक सेवा आयोग में परिवर्तन कर दिया गया और इसका नाम UPSC कर दिया गया।

UPSC Full Form

UPSC का फुल्लफॉर्म Union Public Service Commission होता है। इसका हिंदी नाम संघ लोक सेवा आयोग होता है।

UPSC परीक्षाएं और पोस्ट विवरण

UPSC के माध्यम से देश मे आईएएस, आईपीएस, कलेक्टर, ग्रुप A और ग्रुप B के सभी पुलिस अधिकारियों के रूप में लोगो का चयन किया जाता है। इसके लिए UPSC चयन प्रक्रिया से होकर गुजरना पड़ता है। UPSC Exams की अच्छे से तैयारी करनी पड़ती है। इसके लिए बहुत ही कठिन परिश्रम करना पड़ता है। UPSC के तहत किसी भी पद पर पोस्टिंग पाने के लिए UPSC के द्वारा कराई जाने वाली निम्न परीक्षाओ में से किसी एक भाग लेना होता है।

उसकी तैयारी करनी पड़ती है, एग्जाम देने पढ़ते है, इंटरव्यू पास करके अच्छे रैंक लाने होते है तभी कोई भी कैंडिडेट एक पुलिस अधिकारी, SP, DSP, IPS, ग्रुप A और ग्रुप B के अधिकारी बन सकते हैं। तो चलिए जानते हैं कि UPSC में हम कौन-कौन सा Exam देकर कौन-कौन सी पोस्ट प्राप्त कर सकते है।

UPSC के अंतर्गत निम्न पदों पर नियुक्ति के लिए निम्न प्रकार के परीक्षाओ का आयोजन किया जाता है –

  1. Civil Service Examination (CSE) सिविल सेवा (प्रधान) आयोग परीक्षा – CSE के अंतर्गत लगभग 24 पोस्ट होते हैं CSE एग्जाम देकर Indian Administrative Service भारतीय प्रशासनिक सेवा (IAS) ऑफिसर जैसे Inspector, SP, DSP, IPS (इंडियन पुलिस सर्विस), डिस्ट्रिक्ट कलेक्टर, DM इत्यादि और भी अन्य प्रकार के लोक सेवा हेतु आधिकारिक पदों पर नियुक्ति पा सकते है। आईपीएस के अंतर्गत सबसे बेहतरीन पदों की संख्या लगभग 150 है। आईएएस के अंदर लगभग 180 पोस्ट होते हैं।
  2. Indian Engineering Services examination (I ESE) – भारतीय इंजीनियरिंग सेवा परीक्षा के अंतर्गत इंजीनियरिंग के भिन्न-भिन्न क्षेत्रो के भारतीय अधिकारी के रूप में नियुक्ति पा सकते है। IES Examination द्वारा चयनित कैंडिडेट्स Techno- Managerial Officer के रूप में भारत सरकार के विभिन्न तकनीक और प्रबंधन क्षेत्रो में नियुक्ति पा सकते हैं। जैसे – सड़क दूरसंचार, रेलवे, ओरडेंस फैक्ट्रीज, टेलेकम्युनिकेशन, नेवी-आर्मी इंजीनियरिंग सर्विस, इलेक्ट्रिकल मकैनिकल इंजीनियरिंग सर्विस इत्यादि और भी अन्य क्षेत्रो पोस्टिंग होती है।
  3. Combined Defence Service Exam (CDSE) – संयुक्त रक्षा सेवा परीक्षा- CDSE सेना और केंद्र सरकार के अंतर्गत आता है। जो उम्मीदवार भारतीय सेना अर्थात वायु सेना, जल सेना और थल सेना भारतीय आर्मी के अधिकारी पद पर नियुक्ति पाना चाहते है वे UPSC CDSE Exams के माध्यम से CDSE में भर्ती पा सकते हैं। CDSE में अनेको पोस्ट जैसे लेफ्टिनेंट, कैप्टन, कर्नल, मेजर, जनरल, ब्रिग्रेडिर और भी अनेको छोटे बड़े पदों पर नियुक्ति की जाती है।
  4. National Defence Service Exam (NDA) राष्ट्रीय रक्षा अकादमी – यह भी भारत की सेना की संयुक्त सेवा अकादमी है। UPSC वर्ष भर दो बार NDA Exam का आयोजन करती है। यदि कोई उम्मीदवार 12वीं के बाद ही अपना कैरियर NDA में बनाना चाहता है तो वह भारतीय सेना, आर्मी, मिलिट्री, नौसेना इत्यादि क्षेत्र में लेफ्टिनेंट, कैप्टन, मेजर, जनरल, कर्नल, ब्रिग्रेडिर इत्यादि अनेको पदों पर नियुक्ति पा सकते है।
  5. Indian Forest Service Exam (IFS) भारतीय वन सेवा – IFS अखिल भारतीय सेवाओं में से एक है आईएफएस में लगभग 20 से 30 Posting होती है। IFS Exam देकर कोई भी कैंडिडेट्स भारतीय वन सेवा के प्रशासनिक पदों में अपना कैरियर बना सकते हैं ।

UPSC संघ लोक सेवा आयोग इसके अलावा और भी अन्य प्रकार के ग्रेड A और ग्रेड B जैसे परीक्षाओ का आयोजन करता है। इसके अलावा CAT, GATE, IIT -JEE, AIMS, NIIT, SIIT, क्लैट, नेट इत्यादि परीक्षाएं UPSC संस्था द्वारा आयोजित किये जाते हैं।

UPSC ग्रुप A और ग्रुप B परीक्षा के माध्यम से कुल मिलाकर लगभग 400 से 500 तक पोस्ट पर जॉब मिल सकती है यदि कोई भी उम्मीदवार UPSC ग्रुप A या ग्रुप B एग्जामिनेशन देता है तो उसे निम्नलिखिलित भारतीय सर्विस सेवा में से कोई एक पोस्ट पर ऑफिसर के रूप में जॉब मिल सकता है। तो चलिए जानते है ग्रुप A और ग्रुप B के अंतर्गत आने वाली कुछ पोस्टिंग के बारे में –

UPSC Group A Examination के अंतर्गत आने वाले पोस्ट 

  1. इंडियन पोस्ट एंड टेलीग्राफ एकाउंट & फाइनेंसियल सर्विसेस
  2. इंडियन सिविल एकाउंट सर्विस
  3. इंडियन कॉरपोरेट लॉ सर्विस
  4. इंडियन डिफेंस एकाउंट सर्विस
  5. इंडियन डिफेंस स्टेट सर्विस
  6. इंडियन इनफार्मेशन सर्विस
  7. इंडियन पोस्टल सर्विस
  8. इंडियन रेलवे एकाउंट सर्विस
  9. इंडियन रेलवे पर्सनल सर्विस
  10.  इंडियन रेलवे ट्रैफिक सर्विस
  11.  इंडियन रिवेन्यू सर्विस
  12. इंडियन फॉरेन सर्विस
  13. इंडियन कस्टम सर्विस
  14. इंडियन ट्रेड सर्विस
  15. इंडियन प्रोटेक्ट सर्विस
  16. इंडियन ऑर्डन्स फैक्ट्रीज सर्विस
  17. इंडियन ऑडिट एंड एकाउंट सर्विस

UPSC Group B Examination के अंतर्गत आने वाले पोस्ट 

  1. दिल्ली अंडमान एंड निकोबार आइलैंड सिविल सर्विस (DANICS) – DANICS दिल्ली अंडमान एंड निकोबार द्वीप, लक्षद्वीप, दादरा एंड नगर हवेली औऱ दमन और दीव प्रशासनिक सेवा को संदर्भित करता है।
  2. दिल्ली, अंडमान एंड निकोबार आइलैंड लक्षद्वीप, दादरा एंड नगर हवेली एंड दमन एंड दीव पुलिस सर्विस
  3. पांडिचेरी सिविल सर्विस (पांडिचेरी प्रशासनिक सेवा)
  4. पांडिचेरी पुलिस सर्विस

UPSC Civil Service Examination (CSE) , Syllbus और Exam Pattern

UPSC द्वारा प्रत्येक वर्ष फरवरी महीने के आसपास सिविल सर्विस परीक्षा का आयोजन किया जाता है। इसके माध्यम से भारतीय लोक सेवा हेतु अलग-अलग प्रकार के पोस्टों पर जैसे – आईएएस, आईपीएस, आईएफएस, आईआरएस,  कलेक्टर, जिला मजिस्ट्रेट इत्यादि के रूप में अधिकारियों का चयन किया जाता है।

इसमें ज्यादातर उम्मीदवार कैरियर के रूप आईएएस हाई पोजीशन सर्विस सेलेक्ट करते है इसलिए इसे IAS एग्जामिनेशन भी कहा जाता है।

UPSC CSE Examination तीन चरणों मे संपन्न किया जाता है।

  1. प्रीलिमिनरी परीक्षा (Preliminary Examination)
  2. मुख्य परीक्षा (Main Examination)
  3. साक्षात्कार (Interview) /Personal Test

प्रीलिम्स परीक्षा और मुख्य परीक्षा Syllabus के अनुसार लिया जाता है। ये दोनों परीक्षा लिखित परीक्षा होता है जबकि साक्षात्कार मौखिक रूप से UPSC एक्सपर्ट द्वारा लिया जाता है। चलिए जानते है प्रीलिम्स और मुख्य परीक्षा के एग्जाम पैटर्न और सिलबुस तथा Interview  के बारे में ।

UPSC CSE प्रीलिमिनरी परीक्षा पैटर्न

Preliminary Exam का आयोजन जून के महीने में होता है। प्रीलिम्स परीक्षा में दो पेपर अनिवार्य  होते है।

  1. जनरल एबिलिटी टेस्ट (General Ability Test ) / General Studies I
  2. सिविल सर्विस एबिलिटी टेस्ट (Civil Service Ability Test) /General Studies ll

प्रीलिम्स एग्जाम में दोनों पेपर से 400 अंको के 180 प्रश्न पूछे जाते हैं इसमे प्रश्न वैकल्पिक रूप में होते हैं जिसमे चार options में से एक सही answer सेलेक्ट करना होता है। जनरल स्टडीज 1 में 0.66% अंक का Negative Marking भी होता है। जनरल स्टडीज II में 0.33% अंक का Negative Marking होता है।

यह एग्जाम हिंदी या अंग्रेजी किसी भी एक भाषा में दे सकते है। इसे क्वालीफाई करने के लिए 33℅ मार्क्स अनिवार्य है। इसके अंक फाइनल मेरिट लिस्ट में नही जोड़े जाते है। इसे क्वालीफाई करने वाले उम्मीदवार ही मुख्य परीक्षा के लिए चयनित किये जाते है।

CSE Preliminary Syllbus

CSE प्रीलिम्स में दो पेपर अनिवार्य होते हैं Syllabus के अनुसार इसमें उम्मीदवार का अपने देश के प्रति रुचि और Skill Knowledge का प्रशिक्षण होता है।

Paper 1. – जनरल स्टडीज 1 के सिलबुस में मुख्य subjects इस प्रकार हैं –

  • Current events of National and International  importance (राष्ट्रीय और अंतरास्ट्रीय स्तर की वर्तमान घटनाये)
  •  History of India and Indian National movement (भारत का इतिहास, राष्ट्रीय गतिविधियां)
  • Economics and Social development of  country (देश की आर्थिक स्तिथि, सामाजिक विकास)
  • Research and scientific relationship (अनुसंधान,वैज्ञानिक संबंधी)
  • Indian and world Geography – Physics, Social, Economics
  • Geography of India and the world) भारतीय और विश्व भूगोल-  भौतिक, सामाजिक, अर्थशास्त्र, भारत और विश्व भूगोल
  • Indian Polity and Governance – Consitution , Political System, Panchayati Rajy, Public, Rights issue ( भारतीय राजनीति और शासन- (संविधान, राजनीतिक प्रणाली, पंचायती राज्य, आम अधिकार मुद्दे )
  • General issue on Environment Ecology, Bio-diversity and Climate chance (पर्यावरण पारिस्थितिकी, जैव विविधता और जलवायु परिवर्तन पर सामान्य मुद्दे इत्यादि)
  • General Science (सामान्य विज्ञान)

Paper 2- General Studies ll के syllabus में मुख्य subjects इस प्रकार हैं –

  • Comprehension ( समझना)
  • Interpersonal skills including comminication (पारस्परिक कौशल सहित समूहीकरण )
  • Logical reasoning and Analytical Ability (तार्किक विचार और विश्लेषणात्मक क्षमता)
  • Decision making and problem solving ( निर्णय लेना और समस्या का हल निकालना)
  • General mental ability (सामान्य मानसिक क्षमता)
  • बुनियादी संख्यात्मक  प्रश्न ( Numerical)
  • आंकड़ा निर्वचन ( Data Interpretation )

CSE मुख्य परीक्षा पैटर्न (Main Exam Pattern)

Main Exam का आयोजन अक्टूबर महीने में होता है। मुख्य परीक्षा CSE का दूसरा स्टेज होता है। प्रीलिम्स परीक्षा को qualify करने वाले कैंडिडेट्स ही मुख्य परीक्षा के लिए चयनित किये जाते हैं। मुख्य परीक्षा में 9 पेपर होते हैं  इन 9वों पेपर का  एग्जाम देने में एक सप्ताह  का समय लिया जाता है।

इसमें 7 पेपर मेरिट रैंकिंग प्रवृति के होते हैं सिर्फ दो पेपर क्वालीफाइंग पेपर होते हैं  इसमें वर्णात्मक उत्तर टाइप का प्रश्न पूछा जाता है। इसमें पेपर A और  पेपर B हिंदी या अग्रेंजी या संविधान में दिए गए 18 भाषाओ में से किसी भी भाषा मे लिखना होता है। पेपर A में 90 अंक अर्थात 30% और paper B में 75 अंक अर्थात 25% लाना अनिवार्य होता है।

पर A अरूणाचल प्रदेश, मणिपुर, मेघालय, मिजोरम, नागालैंड और सिक्किम के उम्मीदवारों के लिए अनिवार्य नही है। बाकी सभी पेपर 1 से लेकर paper v तक अंग्रेजी भाषा के होते हैं।  Optional paper vi और vii किसी भी भारतीय भाषा हिंदी, अंग्रेजी, तमिल,कन्नड़,मराठी इत्यादी भाषा मे लिखना होता है। मुख्य परीक्षा के पेपर 1750 अंक के होते है उम्मीदवार अपने पेपर 1 से लेकर 7वें तक से  अंको के लिए प्रत्येक में कम से कम 25℅ अंक स्कोर करना होता है। जो फाइनल मेरिट लिस्ट में जोड़े जाते हैं।

Main Exam Pattern List (मुख्य परिक्षा पैटर्न सूची)

  1. Paper A – Compulsory Indian Language , Time -3 hours, Mark -300
  2. Paper B – English, Time –  3 hours, Marks-  300
  3. Paper 1- Essay, Time – 3 hours, Marks – 250
  4. Paper ll – General Studies 1, Time – 3 hours, Marks – 250
  5. Paper lll – General Studies ll, Time – 3 hours, Marks – 250
  6. Paper lV – General Studies lll, Time -3 hours, Marks -250
  7. Paper V – General Studies lV, Time – 3 hours, Marks – 250
  8. Paper Vl – Optional 1, Time – 3 hours, Marks – 250
  9. पेपर4 Vll – Optional ll, Time – 3 hours, Marks – 250

CSE Main Exam Syllbus

CSE Main Exam Paper A और Paper B भाषा के पेपर A और पेपर B  को छोड़कर सभी मुख्य पेपर हैं जो मेरिट रैंकिंग प्रकृति के हैं। पेपर A और पेपर B सिर्फ क्वालीफाइंग पेपर हैं यह केवल उम्मीदवार को यह साबित करता है कि उन्हें उनके विकास के संबंधित बोर्ड या विश्वविद्यालय द्वारा  सिखाये गए ऐसी भाषा पाठ्यक्रमो में से किसी भी भाषा का चयन करने के लिए छूट मिल सकें ।

Paper A और Paper B के syllbus

  1. Comprehension of given passages (बोधगम्यता)
  2. Precis writing (संक्षिप्त लेखन)
  3. Uses and Vovabulary (शब्द प्रयोग एवं शब्द भंडार)
  4. Short Essay (संक्षिप्त लेख)
  5. Translation from English to the Indian language and vice versa ( अंग्रेजी से भारतीय भाषा और भारतीय भाषा से अंग्रेजी में अनुवाद करना)

CSE Main Exam Paper Vl और Paper Vll Syllabus

मुख्य परीक्षा के पेपर Vl और पेपर Vll में  किसी एक सब्जेक्ट का चयन करना होता है जिनमे निम्नलिखिलित  सब्जेक्ट्स में से किसी एक सब्जेक्ट का होना अनिवार्य होता है। जिसके सब्जेक्ट्स हैं –

  • Commerce and accountancy (व्यापार और लेखांकन )
  • History (इतिहास)
  • Medical Science ( चिकित्सा विज्ञान)
  • Public Administration (सार्वजनिक प्रशासन)
  • Anthropology (मानव विज्ञान)
  • Economics (अर्थशास्त्र)
  • Low (कानून)
  • Philosophy (दर्शन शास्त्र)
  • Sociology (नागरिक शास्त्र )
  • Botany (वनस्पति विज्ञान)
  • Electrical Engineering (विद्युत इंजीनियरिंग)
  • Management (प्रबंधन)
  • Chemistry (रासायनिक विज्ञान)
  • Physics (भौतिक विज्ञान)
  • Statics (स्थिति विज्ञान)
  • Mathematics (गणित )
  • Political Science (राजनीतिक विज्ञान)
  • Zoology (जंतु विज्ञान)
  • International relation (अंतरास्ट्रीय संबंध)

Optional Paper Vl और पेपर  Vll  में चुने गए किसी एक सब्जेक्ट (syllbus) को किसी भी भारतीय भाषा जैसे:- हिंदी, इंग्लिश, मराठी, गुजराती, तामील, तेलगु, असमी, डोंगरी इत्यादि किसी भी भाषा मे Exam दे सकते हैं। CSE Main Exam पेपर 1 (Essay) Paper 1 में निबंध लिखना होता है।

इसमें कई सारे multiple essay लिखना होता है। जो 250 अंको का होता है। इसमें उम्मीदवारों को निबंधों का उत्तर व्यवस्थित ढंग से संक्षिप्त रूप में लिखना होता है। सही उत्तर रहने पर ही अंक दिए जाते हैं।

CSE Main Exam paper ll – General Studies 1, Syllabus

  • Indian Heritage and Culture ( भारतीय विरासत और संस्कृति)
  • History and Geography of the world ( विश्व का इतिहास और भूगोल)
  • Sociaty (समाज)

CSE Main Exam Paper lll – General Studies ll, syllbus

  • Governance (शासन व्यवस्था)
  • Constitution (संविधान)
  • Polity (शासन प्रणाली)
  • Social Justice (सामाजिक न्याय)
  • International relations (अंतरास्ट्रीय संबंध)

CSE Main Exam paper lV- General Studies lll, Syllabus

  • Technology (प्रद्योगिकी)
  • Economics Debelopment (आर्थिक विकास)
  • Bio- diversity (जैव विविधता)
  • Environment (पर्यावरण)
  • Security and Disaster management (सुरक्षा और आपदा प्रबंधन)

CSE Main Exam Paper V – General Studies lV , syllbus

  • Ethics (नागरिक शास्त्र)
  • Integrity (सत्यनिष्ठा)
  • Aptitude ( अभिरुचि)

CSE  Interview / Personal Test (साक्षात्कार)

साक्षात्कार CSE Examination का सबसे अंतिम और महत्वपूर्ण स्टेज होता है। इसका आयोजन फरवरी से अप्रैल महीने के भीतर होता है।  साक्षात्कार का मुख्य उद्देश्य उम्मीदवारों के शैक्षणिक कौशल और उनकी क्षमता का, उनके ज्ञान का आकलन करना है।

यह भी पढ़े –

उम्मीदवार को उनकी जानकारी और स्मृति तथा समझ की गहराई का विश्लेषण करना होता है। जो उम्मीदवार मुख्य परीक्षा को क्वालीफाई करते है उन्हें ही इंटरव्यू के लिए बुलाया जाता है, साक्षात्कार कुल 275 अंको का होता है।

इसे हिंदी या अंग्रेजी किसी भी भाषा मे दिया जा सकता है।  इंटरव्यू में अर्जित किये गए अंक और मुख्य परीक्षा में अर्जित किये गए अंको को मिलाकर ही फाइनल मेरिट रैंक का निर्धारण किया जाता है।

UPSC परीक्षा के लिए शैक्षणिक योग्यता (Qualification for UPSC)

UPSC परीक्षा में शामिल होने के लिए किसी भी उम्मीदवार को ग्रेजुएशन होना जरूरी होता है। चाहे वो किसी भी सब्जेक्ट से ग्रेजुएट हो और किसी भी सरकारी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से ग्रेजुएशन किया होना चाहिए। UPSC परीक्षा में 12वीं पास कैंडिडेट्स के लिए भी शामिल होने के अवसर उपलव्ध है।

साथ ही जो कैंडिडेट्स अपने ग्रेजुएशन के Last Year यानि Appearing में है वे भी UPSC में हिस्सा ले सकते हैं और वे कैंडिडेट्स जो अपने ग्रेजुएशन का Exam दे चुके है और रिजल्ट मिलने ही वाला हो तो वैसे कैंडिडेट्स रिजल्ट मिलने से पहले भी UPSC परीक्षा में शामिल हो सकते हैं।

UPSC परीक्षा के लिए आयुसीमा और Attempt (Age Limit for UPSC)

UPSC मे शामिल होने के लिए आयुसीमा बहुत ही मायने रखता है। अगर कोई भी कैंडिडेट्स पहले एटेम्पट में ही Fail हो जाता है तो वह Age Limit के अंदर रहकर फिर से UPSC Exam के लिए अप्लाई कर सकता है। UPSC में General Category के कैंडिडेट्स के लिए अधिकतम आयु 21 वर्ष से 32 वर्ष, ST/SC वर्ग के कैंडिडेट्स के लिए 21 वर्ष से 35 वर्ष और OBC वर्ग के कैंडिडेट्स के लिए अधिकतम आयु 37 वर्ष तक आयुसीमा का निर्धारण करती है।

General वर्ग के उमीदवार UPSC में हिस्सा लेने के लिए 6 बार Try कर सकता है। जबकि ST/SC और OBC वर्ग के उम्मीदवार 9 बार Attempt कर सकते है।

IPSC Admit Card कैसे Download करे?

आप UPSC से सम्बंधित किसी भी परीक्षा का Admit Card (प्रवेश पत्र) इसके अधिकृत वेबसाइट Official Website से डाउनलोड कर सकते है।

उम्मीद है UPSC क्या है? UPSC Full Form, Admit Card, Exam Pattern, Syllabus से सम्बंधित जानकारी आपको पसंद आई होगी। आप इस जानकारी को अपने मित्रों के साथ शेयर कर हमारा मनोबल बढ़ा सकते है ताकि इसी तरह और भी नई नई जानकारी हम आपके लिए लिख सके।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here