SP कैसे बने? Become a Superintendent of Police in Hindi

SP Kaise Bane? How to Become a Deputy Superintendent of Police ? Complete Details in Hindi Age Limit, Salary, Qualification and Selection Process

SP Kaise Bane? How to Become a Superintendent of Police Complete Details in Hindi? हेलो दोस्तों गंगा ज्ञान पर आपका फिर से स्वागत है। आज हम बात करेंगे SP (Superintendent of Police) की पोस्ट के बारे में SP कैसे बने? और SP Selection Process, Age Limit तथा SP की योग्यता एवं सैलरी के बारे में।

जैसा कि हम सभी जानते है कि आज के युग मे ऐसा कोई भी इंसान नही है जो पढ़ लिख कर घर पर बैठे रहना पसंद करता हो जब तक कि उसे कोई भी अच्छी सी नौकरी न मिल जाये तब तक वह कोशिस करते रहता है। हर कोई चाहता है कि वो अपने जीवन में कुछ ऐसा काम करे ताकि उसका भी इस समाज के आदर्श तथा अन्य लोगो की तरह नाम एवं इज्जत सोहरत मिले।

Superintendent of Police

बहुत लोगो के मन में देशभक्ति की जिज्ञाशा भी होती है जो देश के प्रति अपना योगदान देना चाहते है। बहुत सारे स्टूडेंट ऐसे होते है जो पुलिस में भर्ती होकर देश की सेवा करना चाहते है उन्हें पुलिस में भर्ती होना बहुत पसंद है। परन्तु उनके मन में बहुत सारे सवाल उठते है कि किस पोस्ट की तैयारी कि जाये क्यूंकि Police Department में भी अलग-अलग विभाग तथा पोस्ट होते है जिसमे योग्यता के अनुसार अभ्यर्थियों को चयन किया जाता है।

पुलिस विभाग में एक SP का भी पोस्ट होता है जो बहुत ही आदर्श पोस्ट है। यदि आप भी पुलिस में भर्ती होकर इस तरह के आदर्श काम करना करना चाहते है तो हमारी आज के इस पोस्ट को पूरा पढ़िये जिसमे हमने SP कैसे बने? की पुरी जानकारी विस्तार से बताया है।

SP किसे कहते है? SP का पूरा नाम क्या होता है ?

SP का पूरा नाम (Superintendent of Police) पुलिस अधीक्षक होता है। जिस प्रकार देश की सरहदों पर आर्मी लोग देश पर बाहरी आक्रमणों तथा दुश्मनो से देश की रक्षा करते है और अपने आप पर गर्व महसूस करते है। ठीक उसी तरह देश के अंदर होने वाली समस्यायों को हल करने या क्राइम को रोकने के लिए जिलावार पुलिस कर्मी की तैनाती की जाती है।

जिलावार पुलिसकर्मियों में विभिन्न प्रकार के पुलिस अधिकारी की नियुक्ति की जाता है जिसमे एक पोस्ट SP का होता है SP यानि वह अफसर जिसे देश के प्रत्येक जिलों में सुपर पावर देकर नियुक्त किया जाता है उसे Superintendent of Police कहा जाता है।

एक SP की जिम्मेदारी बहुत बड़ी होती हैं जो अपने जिले के अंदर होने वाले सभी समस्यायों से जूझता है और साथ ही साथ सभी छोटे -बड़े शहरों और प्रखंडों के थानों की पूरी खबर रखता है एवं जिला के अंतर्गत आने वाले सभी पुलिस अधिकारियों पर नियंत्रण भी रखते है।

Superintendent of Police in Hindi

Hindi Meaning of SP यानि SP को हिंदी में पुलिस अधीक्षक कहा जाता है। एक पुलिस अधीक्षक के ऊपर पुरे जिले का भार होता है, एक जिला के अंतर्गत जितने भी Police Station आते है सब पर नियंत्रण रखने का काम एक SP (पुलिस अधीक्षक) की होती है। तथ जिला के अंतर्गत आने वाले सभी प्रखंड, गांव, क़स्बा में हो रहे क्राइम को रोकने तथा शांति बनाये रखने की पूर्ण जिम्मेवारी एक SP (Superintendent of Police) पुलिस अधीक्षक की होती है।

SP पोस्ट के अंतर्गत कुछ अन्य पोस्ट भी आते है जैसे – Senior Superintendent of Police, Additional Superintendent of Police, Deputy Superintendent of Police, Assistant Superintendent of Police ये सभी पद भी SP के पद से सम्बन्ध रखते है। आइये हम विस्तार से जानते है।

Superintendent of police बनने के लिए शैक्षणिक योग्यता क्या होनी चाहिए?

यदि आप पुलिस अधीक्षक (SP) बनना चाहते हैं तो किसी भी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से कम से कम स्नातक (Graduate) होना अनिवार्य है। यदि आप किसी भी विषय से स्नातक किये है जैसे- Science, Commerce या Arts ग्रेजुएशन की पात्रता पूरा करने के बाद ही आप sp के पोस्ट के लिए आवेदन कर सकते हैं।

SP बनने की आपकी आयु सीमा क्या होनी चाहिए ?

sp बनने के लिए आपकी Age Limit (आयु सीमा) Category के आधार पर निर्भर करता है। यदि आप सामान्य (General) श्रेणी में आते है तो 21 वर्ष से लेकर 32 वर्ष के बीच होना चाहिए। यदि आप sc/ st (अनुसूचित जाति/ अनुसूचित जनजाति) के श्रेणी में है तो आपकी आयु सीमा 21 से 40 वर्ष के बीच होना चाहिए और यदि आप पिछड़ा (obc) के अंतर्गत आते है तो आपकी आयु सीमा 21 से 37 वर्ष के बीच होना चाहिए।

SP पद पाने के लिए शारीरिक क्षमता कैसी हो?

SP पद की बहुत बड़ी जिम्मेदारी होती है क्योंकि इनको पूरे जिले पर नियंत्रण रखना होता है। इसलिए इनका मानसिक तथा शारिरीक दोनो रूप से प्रबल होना बहुत ही जरूरी होता है।

यदि आप सामान्य वर्ग में आते है तो SP पद के लिए पुरुषों की Height (लंबाई) Minimum 165 cm तथा Chest (छाती) की चौड़ाई Minimum 84 cm होना चाहिए और महिलाओं की लंबाई 150cm तथा छाती की चौड़ाई 79 cm के लगभग होना चाहिये।

SC/ST/OBC वर्ग के पुरुषो की लंबाई 160 cm तक तथा महिलाओं की लंबाई 145 cm तक होनी चाहिए।

साथ ही आपकी आँखों की दूरदर्शी दृष्टि (नजर) पुरुषों में कम से कम 6/6 तथा महिलाओं की 6/9 होनी चाहिए।

इसके अलावे शारिरिक रूप से बिल्कुल स्वस्थ्य होना बहु जरूरी है क्योंकि इसमें medical test भी लिया जाता है ।

How to Become Superintendent of Police – SP कैसे बनते है?

SP के पद को सीधे तौर पर नही प्राप्त किया जा सकता है इसके लिए पहले आपको IPS या DSP का पद प्राप्त करना होता है उसके बाद आप ही आप पुलिस अधीक्षक बन सकते है।

SP बनाने के लिए आपको UPSC के परीक्षा की तैयारी करनी होती है। यदि आप इस परीक्षा में सफल होते है तब आपको IPS के रूप में काम करने का मौका मिलता है यदि आप पूरी लगन और निष्ठा से IPS के पद पर काम करते है तब आपको 5 वर्षो के कार्यकाल के बाद Promotion के द्वारा SP पद पर नियुक्त किया जाता है। इसके लिए आपको सबसे पहले UPSC (Union Public Service Commission) की परीक्षा का आवेदन पत्र भरना होगा।

नए अभ्यार्थियों को UPSC Exam में भाग लेने के लिए इसके फॉर्म का इंतज़ार करना होता है UPSC का फॉर्म हर साल February Month के आस पास निकलता है जिसे आप Online Apply कर UPSC CSE Exam में भाग ले सकते है। यदि आप General Category में आते है तो UPSC की परीक्षा 6 बार Attempt कर सकते है। यदि आप SC/ST/OBC Category में है तो 9 बार हालांकि यह Criteria बदलते रहता है। जो age limit पर निर्भर करता है।

इसके अलावे आप State PSC (State Public Service Commission) की परीक्षा भी पास कर के sp बन सकते है। State PSC Exam Qualify करने के बाद आपको DSP (Deputy Superintendent of Police) के पद पर कार्य करने का मौका मिलता है जिसके 10 से 15 वर्षों के कार्यकाल के बाद आप sp बन सकते है।

SP (Superintendent of Police) पद के Exam प्रक्रिया संक्षेप में।

जैसा कि हमने बताया कि sp बनने के लिए आपको UPSC या State PSC की परीक्षा पास करनी होती है जिसमे आपको सबसे पहले preliminary exam (प्रारंभिक परीक्षा) पास करनी होगी जिसमे लगभग 180 सवाल पूछे जाते हैं जो 400 नम्बर के होते है।

इसमें कुछ objective question भी पूछे जाते है तथा गलत जवाब देने पर negative marks भी होता है।

जब आप preliminary exam को पास कर लेते है तब आप इसके main exam (मुख्य परीक्षा) के लिए चयनित किये जाएंगे। main exam में कुल 9 प्रशन पत्र होते है जिसकी परीक्षा लगभग एक हप्ते तक होती है। जो इस प्रकार है।

  • Compulsory Indian Language
  • English
  • Essay
  • General Studies l जिसमे (भारतीय विरासत और संस्कृति, इतिहास ,भूगोल शास्त्र और सामाजिक कार्यों से प्रश्न होते है )
  • General Studies ll जिसमे (अधिकार, शासन, राजनीतिक सामाजिक न्याय, अंतरास्ट्रीय संबंधित प्रश्न होते है )
  • General Studies lll जिसमे (technology, आर्थिक विकास, प्राणी विविधता, पर्यावरण, सुरक्षा और विपत्ति व्यवस्था से जुड़े प्रश्न होते है )
  • General studies 4 जिसमे( ethics,aptitude, integrity स्वास्थ्य, रोग तथा उसके कारण सम्बन्धी अध्यन से जुड़े प्रश्न होते है ।)
  • Optional Question l – इसमे बहुत सारे subject होते है जिसमे से किसी भी एक पेपर को चुनकर लिख सकते है।
  • Optional Question ll– इसमे भी अलग अलग subject होते है। आप चुन सकते है जो main language paper होता है बाकी सब English में लिखना रहता है।

Main Exam Pass होने के बाद आपको Interview की तैयारी करनी होती है।

साक्षात्कार ( SP Interview ) के लिए क्या करे?

यह तीसरी और सबसे अंतिम कड़ी है जिसमे पास होने के बाद ही आप अपनी सफलता की उम्मीद कर सकते है इसके लिए आपको जी तोड़ परिश्रम करनी पड़ेगी। time table के अनुसार पढ़ाई करनी होगी आपको दिमाग की चालाकी, निर्णय लेने की क्षमता , झिझकपन, जजमेंट करने की क्षमता सारा clear कर लेना होगा ।

Interview के दौरान उम्मीदवार से मेंटल और social सोच को ध्यान में रखते हुए सामान्य इंटरेस्ट के आधार पर 275 प्रश्न पूछते है। जिसमे आपकी activities एवं जवाब की क्षमता, चालाकी तथा सब कुछ ध्यान में रखते हुए आपको rank मिलता है और इसी दौरान आपको फाइनल चयन या निष्काषित किया जाता है।

इस तरह अगर आप upsc की परीक्षा qualify करते है तो आप IAS की उपाधि प्राप्त करते हैं अगर आप 5 साल तक अपने कार्य ईमानदारी और निष्ठापूर्वक अपने कर्तव्यों को निभाते हुए अपने गरिमा को बनाये रखें तो आपको प्रमोशन के द्वारा SP की उपाधि दे दी जाती है।

यदि आप state psc की परीक्षा निकाल कर DSP बनते हैं तो आपको 10 से 15 साल के बाद SP की उपाधि दी जाएगी। इस हिसाब से जल्द sp बनने के लिए सबसे आसान रास्ता UPSC है। अधिकतर छात्र इसी रास्ते का चयन करते हैं।

SP (Superintendent of Police) की Salary कितनी होती हैं?

वैसे तो पुलिस अधीक्षक को पर महीने शुरुआती दौर में 15900 से लेकर धीरे-धीरे कार्यकाल बढ़ते-बढ़ते 39000 रु तक होती है साथ ही साथ अलग से कुछ सुविधा एवं allowance भी मिलता है।

एक SP की कर्तव्य और जिम्मेदरियां क्या होती है?

एक sp अपने जिले का सबसे पावरफुल पुलिस अधीक्षक होते है। जिनके under में बहुत सारे पुलिस अधिकारी एवं पुलिस अधिकारी के अंतर्गत जीतने भी पुलिसकर्मि आते है उन सभी की जिम्मेदारी एक sp को निभानी होती है एक SP सभी को नियंत्रण में रखते हुए अपने कर्तव्यों को पूरी ईमानदारी से निभाता है। यह एक sp की अपनी जिम्मेदारी होती है ।

SP के कर्तव्य

  • अपने जिले में शांति बनाए रखना तथा होने वाली घटनाओं पर नियंत्रण करना, लोगो की सुरक्षा करना इत्यादि।
  • अपने जिला के अंतर्गत हो रहे अवैध गैरकानूनी गतिविधियों पर रोक लगाना।
  • जिला अंतर्गत नक्सलवाद को समाप्त करना तथा अन्य क्राइम पर नियंत्रण रखना।
  • traffic rules का पालन करवाते रहना ताकि सड़क दुर्घटनाओ को कम किया जा सके ।
  • जिले के अंतर्गत होने वाली सभी समारोह, कार्यक्रमों तथा उन्हें शान्तु पूर्ण करवाने की जिम्मेवारी।
  • समाज की बुराइओं को दूर करने की कोशिश करते रहना जैसे – दहेज प्रथा, चोर, लुटेरो, जुआरियों इत्यादि को दंड देकर सामाजिक बुराइयां दूर करते है ।
  • गैरकानूनी धंधों को रोकना इत्यादि ऐसे बहुत सारे कार्यों को करते हुए एक SP को अपने कर्तव्यों का पालन करना चाहिए।

उम्मीद है SP (Deputy Superintendent of Police) कैसे बने की जानकारी आपको अच्छी लगी होगी। आप इस जानकारी को अपने मित्रों के साथ शेयर कर के हमारा मनोबल बढ़ा सकते है ताकि इसी तरह और नई जानकारी हम आपके लिए लिख सके। इस जानकारी से सम्बंधित आपका कोई सवाल है तो आप निचे Comment Box में पूछ सकते है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here