Online FIR दर्ज कैसे करें? ऑनलाइन पुलिस में शिकायत कैसे करे

नमस्कार दोस्तो, गंगाज्ञान पर आप सबों का स्वागत है। Online FIR दर्ज कैसे किया जाता है? दोस्तों, आज के इस इंटरनेट की दुनिया में बहुत सी सुविधाएं ऑनलाइन उपलव्ध कराई जा रही है। आज के समय मे सारे कार्य ऑनलाइन किये जाने की सुविधा कराई जा रही है। आज घर बैठे व्यक्ति अपने सारे कार्यो को अंजाम दे रहा है। इन्ही में एक सुविधा ऐसी है जिसके माध्यम से आप घर बैठे बिना पुलिस स्टेशन गए अपने शिकायत ऑनलाइन दर्ज कर सकते हैं। जो कि आप बहुत ही कम समय मे FIR दर्ज करा कर अपराधी को सजा दिलवा सकते हैं। तो चलिये जानते है ऑनलाइन FIR दर्ज करने के लॉ एंड आर्डर क्या है।

online-fir

FIR क्या होता है? FIR फुल्लफॉर्म, ऑनलाइन FIR दर्ज करने के rule क्या हैं किन किन अपराधों का FIR आप ऑनलाइन दर्ज कर सकते हैं। ऑनलाइन FIR दर्ज कराने का प्रोसेस क्या क्या है? यदि आप भी ऑनलाइन FIR दर्ज करना चाहते है या इससे जुड़ी जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं तो यह पोस्ट पूरा पढ़िए और अच्छा लगे तो अपने दोस्तो, एवं संबंधियों के साथ जरूर शेयर कीजिये। तो चलिए शुरू करते हैं-

Online FIR क्या होता है?

जब किसी के साथ अपराधियों द्वारा कोई भी घटना घटित होता है जैसे चोरी, डकैती, लूटपाट, मर्डर , घरेलू हिंसा, शारीरिक उत्पीड़न इत्यादि इस तरह का कोई भी क्राइम होता है तो अपने न्याय के लिए और अपराधियों को सजा दिलवाने के लिए अपने नजदीकी पुलिस स्टेशन या ऑनलाइन उस व्यक्ति के खिलाफ एक लिखित आवेदन पत्र देता है। इस प्रॉसेस को ही FIR (First Information Report ) प्रथम सूचना रिपोर्ट कहा जाता है।

जो कि एक महत्वपूर्ण दस्तावेज होता है। यह एक लिखित प्रपत्र होता है लेकिन यह FIR लिखित या मौखिक दोनो तरह से मान्य होता है। पुलिस दोनों तरीको से किये गए FIR के आधार पर ही कार्यवाई करती है। इसका प्रयोग किसी संज्ञेय अपराध (cognizable offence) की पुष्टि होने पर किया जाता है। Online FIR लिखित या मौखिक रूप से दर्ज कराना किसी भी अपराधी के विरुद्ध कार्यवाई कराने के लिए तथा उसे दंड दिलवाने के लिए पीड़ित व्यक्ति द्वारा लिया पहला कदम होता है।

FIR Full Form

FIR का full form “FIRST INFORMATION REPORT” (प्राथमिक सूचना रिपोर्ट) होता है।

Online FIR दर्ज कराने का Rule

भारत मे किसी भी शिकायत के रूप में FIR दर्ज कराना सभी आमआदमी का अपना अधिकार होता है। भारतीय दंड संहिता 1973 की धारा 154 में तहत FIR की प्रक्रिया पूरी की जाती है लेकिन कभी कभी आमआदमी द्वारा दी गयी सूचनाओं को पुलिस प्राथमिकी के रुप में दर्ज नही करती है, ऐसे में प्राथमिकी दर्ज कराने के लिए लोगों को कई बार न्यायालय का दरवाजा खटखटाने पड़ जाता है।

ऑनलाइन FIR किसी अज्ञात व्यक्ति के बारे में ही किया जा सकता है जिसके बारे में आपको बिल्कुल भी जानकारी प्राप्त न हों। अपने जानकारी से संबंधित व्यक्तियों के बारे में यदि आप FIR करवाना चाहते हैं तो इसके लिए अपने नजदीकी पुलिस स्टेशन से संपर्क करें। ऑनलाइन FIR किसी विशेष घटना जैसे – अज्ञात व्यक्ति द्वारा चोरी, लूटपाट, डकैती इत्यादि, मर्डर, बलात्कार, अपहरण इत्यादि इस प्रकार के अपराधों से संबंधित शिकायते कर सकते हैं।

ऑनलाइन FIR आप तभी करें जब आपके साथ अवश्य ही अपराधियों द्वारा कोई संगिन्य अपराध को अंजाम दिया गया हो।अन्यथा कानून लॉ एंड आर्डर का उलंघन करने और पुलिस अधिकारियों को बेवजह परेशान करने के कारण आपके साथ कानूनी कार्यवाई भी हो सकती है। यदि आपके साथ कुछ गलत होता है जिसमे FIR करना आपके लिए बहुत ही जरूरी होता है ताकि अपराधियों को उसके किये की सजा मिल सके । इसके साथ ही FIR करते समय कुछ भी छुपाना नही चाहिए इससे हो सकता है कि आपको न्याय नही मिले या फिर अपराधियों को सजा दिलवाने में बाधाएं आ सकते हैं।

Online FIR किन अपराधों के लिए मान्य हैं?

ऑनलाइन FIR दर्ज करने की प्रक्रिया 1973 धारा के 153 सेक्शन के अंतर्गत आता है । ऑनलाइन FIR दर्ज करने की प्रक्रिया को e-FIR कहा जाता है। ऑनलाइन FIR निम्न अपराधों के लिए किया जाता है।

  • अपराध जैसे चोरी, लूटपाट, डकैती, दहेज प्रताड़ना,जलाना, किसी की हत्या करना,बलात्कार करना, अपहरण करना इत्यादि इस प्रकार के संगिन्य अपराधों से न्याय हेतु और अपराधियों को दंड दिलवाने के लिए आप ऑनलाइन FIR दर्ज करा सकते हैं। क्योंकि इन अपराधों में पुलिस सिर्फ व्यक्ति द्वारा FIR दर्ज कर देने मात्र से ही या FIR दर्ज करने को ही आधार मानकर बिना कोर्ट के ऑर्डर पर ही मुजरिम को गिरफ्तार किया जाता है। और उसे गिरफ्तार कर कोर्ट में हाजिर किया जाता है। साथ ही उनके अपराधों का सजा भी दिलवाया जाता है।
  • बहुत सारे ऐसे अपराध होते हैं जैसे- जान से मारने की धमकी देना, जबर्दस्ती करना,धोखा देना, छल करना इत्यादि अपराधों पर ज्यादातर कार्यवाई कोर्ट के आर्डर के अनुसार किया जाता है। कोर्ट के आर्डर पर ही मामला की पूरी छानबीन करने के बाद ही कोई action लिया जाता है या गिरफ्तार किया जाता है। यह ऑनलाइन FIR दर्ज करने का प्रावधान होता है।

ऑनलाइन FIR दर्ज कराने के फायदे

ऑनलाइन FIR दर्ज कराने से बहुत ही फायदे होते हैं। जिसमे FIR दर्ज कराने वाले व्यक्तियों का पता आवश्यकता अनुसार गुप्त रखा जाता है। उनके साथ हुए घटनाओं की जानकारी बिना वजह किसी को बताया नही जाता है और न ही पीड़ितों के साथ हुए संगिन्य घटनाओ को उजागर कर उन्हें बेईज्जत किया जाता है।

जिससे लोग उनकी हसि उड़ाए या उनके बारे में कुछ गलत बाये करे। ऑनलाइन FIR दर्ज कराने का मतलब ही है गुप्त रूप से सच्चाई का पता लगाकर न्याय करना । इसके साथ ही ऑनलाइन FIR करने से और भी बहुत ही फायदे होते हैं जैसे-

ऑनलाइन FIR की सहायता से आप किसी भी प्रकार की खोई हुई वस्तुएं जैसे- ड्राविंग लाइसेंस, मोबाइल, मोबाइल सिम, पास्पोर्ट, चोरी का सामान इत्यादि वापस प्राप्त कर सकते है।

ऑनलाइन FIR की मदद से कोई भी व्यक्ति अपने पहचान की खुलासा कराये बिना भी FIR दर्ज कर सकते हैं। जैसे – बलात्कार संबंधी रिपोर्ट दर्ज कराना, किसी अज्ञात शव के बारे में पुलिस को सूचना देना, गुमशुदा लोगों की जानकारी देना इत्यादि इस प्रकार के घटनाओं के बारे में कोई भी ऑनलाइन FIR दर्ज करा कर पुलिस तथा लोगो की मदद कर सकते हैं।

इसके अलावा कभी कभी ऐसा होता है जैसे अपने कोई अपराध किया ही नही हो और आपके साथ अन्याय हो रहा हो तो आप ऑनलाइन FIR करके खुद को बचा सकते हैं अपने जान माल की रक्षा कर सकते है।

ऑनलाइन FIR दर्ज कराने के लिए जरूरी दस्तावेज

ऑनलाइन FIR दर्ज कराने के लिए कुछ महत्वपूर्ण दस्तावेजो की आवश्यकता पड़ती है जो इस प्रकार है

  1. ऑनलाइन FIR करने वाले व्यक्ति के पास एक valid E-mail ID proved होना चाहिए।
  2. ऑनलाइन FIR दर्ज कराने के लिए एक active mobile no बहुत ही महत्वपूर्ण दस्तावेज होता है।
  3. व्यक्ति का स्थाई पता होना चाहिए।

Online FIR कैसे करें?

ऑनलाइन FIR दर्ज करने के लिए आपको अपने अपने स्टेट के जिस भी पुलिस स्टेशन में FIR दर्ज कराना चाहते हैं उसकी आधिकारिक वेबसाइट ओपन करे । वेबसाइट ओपन करके नागरिक सेवा या शिकायत पंजीकरण का ओशन ओपन करें। जो हर राज्य की पुलिस की अलग अलग वेबसाइट होने के कारण अलग अलग होती है। हम यहाँ कुछ राज्यो के पुलिस की आधिकारिक वेबसाइट की लिंक का नाम बताने जा रहें है जिनकी सहायता से आपको Online FIR दर्ज करने में मदद मिलेगी।

1. Online FIR Delhi – www. delhipolice. nic. in

2. Online FIR Maharastra-maharastrapolice. gov. in

3.Online FIR MP- citizen.mppolice .gov. in

4.Online FIR UP- uppolice. gov. in

5. Online FIR Rajasthan- police.rajasthan . gov. in

6. Online FIR Bihar -biharpolice. gov. in

7. Online FIR Hariyana-hariyanapoliceonline .gov.in

8. Online FIR Jharkhand-jofs.jhpolice. gov. in

9.Online FIR Tamilnadu- tnpolice.gov. in

10.Online FIR Kerala- keralapolice. gov.in

अगर आपकी कोई वस्तु खो गयी है और आप उसे पाना चाहते हैं इसके लिए आप अपने राज्य की पुलिस की आधिकारिक वेबसाइट को ओपन करके FIR रजिस्टर का obtion ओपन करें अगर आप उत्तर प्रदेश में है तो up police का वेबसाइट ओपन करें इसके बाद Online FIR दर्ज करने की प्रक्रिया इस प्रकार करें-

1 . ऑनलाइन FIR दर्ज करने के लिए http:/164.100.181.132:41/ इस लिंक पर क्लिक करें। इस लिंक पर क्लिक करते ही एक website page open होता है जिसमे यहां पर तीन obtion होता है जो इस प्रकार है

1. Existing User 2.New User 3. Authenticate Submitted Report

2. अब व्यक्ति को अपने अपने रिपोर्ट दर्ज करने के लिए दूसरा obtion New User पर क्लिक करना होगा । इस पर क्लिक करने के बाद एक नया पेज ओपन होगा जहां पर FIR दर्ज करने वाले व्यक्ति का नाम, स्थाई पता, E-mail ID proved, mobile no इत्यादिपूछे गए जरूरी दस्तावेजो को भरना होगा। सब पूछी गयी डिटेल्स को ध्यान से भरना होगा क्योंकि एक बार भरने के बाद इसमें किसी प्रकार का दोहराव करना अवैध होगा।

3. अपना नाम, पता, E – mail ID proved, mo. no. इत्यादि सबकुछ details भरने के बादअपने आप को रजिस्टर्ड करें। रजिस्टर्ड होते ही आपके mobile no पर एक verification code भेज जाएगा और वही कोड आपकी E- mail पर भी भेजा जाएगा। जिसका प्रयोग आप बाद में फाइनल सबमिट के तहत करेंगे।

4. इसके बाद आपको Register पर क्लिक करना होगा इस पर क्लिक करने के बाद एक New Page open होगा । जिस पर पहले से दर्ज किया हुआ आपका नाम पता E -mail, mobile no सबकुछ show करेगा । आपको इस पेज पर व्यक्तिगत जानकारी के बारे में detail भरने के लिए कहा जायेगा। जैसे- आपके साथ कब, कहां और कैसे क्या हुआ क्या घटना घटित हुई क्या चोरी हुआ, समय क्या था, उस स्थान का पता सबकुछ अपना शिकायत, पूरी जानकारी इत्यादि भरें पूरी जानकारी FIR में दर्ज करें। यहां आप सिर्फ English भाषा का ही प्रयोग करें।

5. अपना FIR details भरने के बाद आप Next बटन पर क्लिक करें। फिर आपके सामने एक नया पेज खुलेगाजिस्मे आपसे शिकायत के बारे में कुछ जानकारियां पूछे जाएगें जो उपरोक्त भरें गए details के आधार पर भरना होगा।

6. इसके बाद फिर Next button पर क्लिक करें यहां एक विंडो ओपन होगा यहां आपसे Verification Code पूछा जाएगा जिसे आप अपने मोबाइल के sms में आये Verification Code को भरें। ऐसा करते ही आपका FIR Online दर्ज हो जाएगा । इसके तुरंत बाद ही आपके E-mail ID पर इसकी प्रती भरज दी जाएगी इसके बाद आप इस प्रती का प्रिंटआउट अवश्य ही निकाल लें इसका प्रयोग आप आवस्यकता पड़ने पर कहीं भी कर सकते हैं साथ ही FIR दर्ज कराने का मैसेज भी मोबाइल पर भेज दिया जाएगा। आप अपनी रिपोर्ट का भी Authenticate Submitted Report जाकर भी प्राप्त कर सकते हैं।

CCTNS(Crime And Criminal Tracking Network & System) क्या है?

Crime And Criminal Network & System (CCTNS) भारत के प्रधानमंत्री द्वारा चलाया गया एक मिशन मोड प्रोजेक्ट है। इस प्रोजेक्ट के माध्यम से देश के अंदर के सभी राज्यों के पुलिस स्टेशन तथा पुलिस हेड offfice के बीच संबंध स्थापित करना है इसके लिए कप्यूटर तथा इंटरनेट की सहायता से लोगो तथा पुलिस ऑफिसर्स और पुलिस हेड आफिस सभी को एक दूसरे से जोड़ने का प्रयास किया गया है।

ताकि Law And Order का सख्ती से पालन किया जा सके। और लोगों को बहुत ही कम समय मे न्याय दिलाया जा सके साथ ही मुजरिम को कड़ी से कड़ी सजा मिल सके। लोगो को उनके साथ सप्रध या कोई भी घटना को अपराधियो द्वारा अंजाम देने से पहले ही उनकी रक्षा किया जा सके। यह प्रयास करना ही इस मिशन मोड प्रोजेक्ट का मुख्य लक्ष्य है। इसके माध्यम से कंप्यूटर की एक क्लिक से किसी अपराधी के चेहरे,उसके क्राइम रिपोर्ट इत्यादि के बारे में आसानी से पता लगाया जा सकता है। CCTNS का फायदा आज करोड़ों लोग उठा रहे हैं।

CCTNS के दूसरे चरण के लिए भारत सरकार द्वारा मंजूरी भी मिल गयी है। इसके तहत CCTNS परियोजना को Interoperable Criminal Justice System (ICJS) से इंटीग्रेटेड किया गया है इसके अंतर्गत न्यायालय,जेल, फोरेंसिक लैब और कार्यालयों के बीच समन्वय स्थापित किया गया है। CCTNS परियोजना क्राइम को रोकने का एक बहुत ही मजबूत प्रोजेक्ट है

उम्मीद है की Online FIR से सम्बंधित यह जानकारी आपको पसंद आई होगी आप इस पोस्ट को अपने मित्रों के साथ शेयर करे। आपका कोई सवाल या सुझाव है तो आप निचे कमेंट बॉक्स में बता सकते है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here