Kanya Sumangla Yojna- उद्देश्य – विशेषताएं – Online Registration Form

Uttar Pradesh Kanya Sumangla Yojna क्या है और कैसे इसके लिए आवेदन करे पूरी जानकारी हिंदी में

Kanya Sumangla Yojna नमस्कार दोस्तों, गंगाज्ञान पर आप सबों का स्वागत है। जैसा कि हमे मालूम है केंद्र सरकार ने बेटियों के भविष्य को उज्ज्वल बनाने के लिए कई सारी सफल योजनाएं बनाई है बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ , लाडली योजना इत्यादि। देश की सरकार बेटियों/महिलाओं और बच्चों के लिए कई योजनाएं चला रही है लेकिन नागरिक इसका फायदा तभी ले सकता है जब वह स्वयं जागरूक हों। केंद्र सरकार के साथ साथ राज्य सरकारों ने भी अपने-अपने राज्य की बेटियों की सुमंगल भविष्य बनाने की कोशिश कर रही है।

Mukhymantri Kanya Sumangla Yojna

दोस्तो,आज के इस पोस्ट में हम Uttar Pradesh राज्य सरकार द्वारा चलाई गई योजना के बारे में जानकारी देने वाले हैं। जिसका नाम “मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना” Mukhymantri Kanya Sumangla Yojana (MKSY) है।

यहाँ पर आपको मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना (Mukhymantri Kanya Sumangla Yojana) क्या है? उत्तर प्रदेश राज्य कन्या सुमंगला योजना (UP Mukhymantri Kanya Sumangla Yojna) Kanya Utthan Yojna, मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना को कितनी श्रेणियों में बाटा गया हैं, इस योजना का लाभ कैसे उठाये इत्यादि सभी तथ्यों की पूरी जानकारी मिलने वाली है, तो चलिगे शुरू करते है मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना की पूरी जानकारी हिंदी में

लेख से सम्बंधित विषय

Kanya Sumangla Yojna क्या है?

Uttar Pradesh Kanya Sumangla Yojna अपने आप में परिभाषित है अर्थात इस योजना के नाम से ही यह पता चलता है कि यह योजना बालिकाओ के लिए ही चलाई गयी एक योजना हैं यह योजना राज्य सरकार के द्वारा चलाई गई एक ऐसी योजना है जिसमे विशेषकर बालिकाओ, कन्याओं को महत्व दिया गया है।

Mukhyamantri Kanya Utthan Yojana इस योजना के अंतर्गत कन्या के जन्म लेने से लेकर उनकी पढ़ाई के खर्च जैसे कन्या के प्रथम कक्षा में प्रवेश, कन्या के छठी कक्षा में प्रवेश, कन्या के आठवी और दशवी कक्षा से लेकर उनके स्नातक तक कि पढ़ाई , उनके विवाह इत्यादि तक कि सहायता सरकार द्वारा दी जाएगी।

मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना के तहत राज्य सरकार 1200 करोड़ रु इस योजना के लिए आवंटित की है। यह योजना राज्य सरकार के द्वारा हाल ही में शुरू की गई है इस योजना का लाभ उठाने के लिए मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना की आधिकारिक वेबसाइट भी शुरू कर दिया गया है।

इसके माध्यम से कैसे आप योजना का लाभ उठा सकते है इसकी पूरी जानकारी हम आपको आगे बताने वाले है। मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना को राज्य सरकार ने कन्याओं के अलग-अलग स्तर के आधार पर अलग अलग प्रकार से लाभ देने के लिए इन्हें श्रेणीबद्ध भी किया है जैसे की “Mukhyamantri Kanya Utthan Yojna” जिसके बारे में हम आपको आगे बताएंगे।

मुख्यमंत्री कन्या सुमंगउला योजना उत्तर प्रदेश

दोस्तो जैसा कि हम सब जानते है आज भी गरीब और असामाजिक प्रवृति के परिवारों में बेटी के जन्म लेने पर शोक मनाया जाता है बेटी प्राय धन होती है, उनके पालन पोषण और पढ़ाई- विवाह के खर्चे को देखते हुए लोग बेटी के जन्म पर दुखी होते है इस समस्या को हल करने के लिए उत्तर प्रदेश सरकार मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ ने कन्या सुमंगला योजना 2019-20 की शुरुआत की है।

उत्तर प्रदेशीय नागरिको पर भारत की बेटियां बोझ न बने इसलिए उत्तर प्रदेश की बेटियों के सुमंगल भविष्य के लिए और उहने आत्मनिर्भर बनाने की उद्देश्य से ही इस मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना, MKSY की शुरुआत की है। ताकि Uttar Pradesh की बेटियों का जीवन स्तर ऊपर उठाई जा सके।

यह भी पढ़े 

उत्तर प्रदेश सरकार मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ के द्वारा यूपी बजट 2019-20 यूपी कन्या सुमंगला योजना को प्रारंभ किया गया हैं। इस योजना को योगी आदित्य नाथ द्वारा 11 अक्टूबर 2019 को शुरू किया गया है। बेटियों के जन्म होने पर लोगो को प्रोत्साहित करने के लिए सरकार ने अलग से बेटियों के लिए चालू वित्तीय वर्ष में 1200 करोड़ रुपए का बजट रखी है।

मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला स्किम के अंतर्गत 96 लाख परिवारों को कन्या सुमंगला योजना का लाभ मिलने की उम्मीद जताई गई है। मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना के नाम से शुरू की गई इस योजना में बेटियों के जन्म होने से लेकर उनके स्नातक तक कि पढ़ाई के लिए प्रत्येक को 15 हजार रुपये दिए जाएंगे।

योगी आदित्यनाथ जी के द्वारा बेटियों को आर्थिक सहायता प्रदान करते हुए उन्हें आत्मनिर्भर बनाने और उनके भविष्य को निखारने के लिए तथा समान लिंगानुपात को बनाये रखने के लिए ही इस योजना का शुभारंभ किया गया है। इस योजना के अंतर्गत लाभ प्राप्त करवाने संबंधी सरकार ने बेटियों के अलग-अलग स्तर को देखते हुए उन्हें श्रेणीबद्ध भी किया है तो चलाये जानते है कि इस योजना की Categories क्या है-

कन्या सुमंगला योजना श्रेणी (Kanya Sumangla Yojna Categories)

उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा कन्याओं के लिए चलाई गई मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना में उत्तर प्रदेश की कन्याओं को ही प्राथमिकता दी गयी है। जैसा कि इस योजना में बेटियों के जन्म से लेकर पढ़ाई औऱ उनके स्नातक तक और विवाह करवाने में भी उत्तर प्रदेश सरकार आर्थिक सहायता प्रदान करेगी।

कन्या के जन्म लेने से लेकर उसके प्रथम कक्षा में प्रवेश लेने तक, उसके बाद छठी कक्षा में प्रवेश लेने तक, उसके बाद दशवी कक्षा में प्रवेश केने तक, उसके बाद स्नातक और डिग्री लेने तक सरकार कन्याओं को आर्थिक मदद करेगी। इसलिए कन्या सुमंगला योजना का लाभ लेने के लिए सरकार ने कुछ दिशानिर्देश और श्रेणियां बनाई है तो चलिए इन दिशानिर्देश और श्रेणियों के बारे में जानकारी विस्तार से बताने का प्रयास करते है

श्रेणी 1:- नवजात कन्याओं के लिए MKSY Category 1

  • इस श्रेणी 1 के अंर्तगत सरकार MKSY 1 अप्रैल 2020 के बाद जन्मी सभी कन्याओं का आवेदन लेगी।
  • यह आवेदन कन्या के जन्म होने से लेकर उसके 6 महीने होने तक ही लिया जाएगा।
  • आवेदन करते समय कन्या के जन्म प्रमाण पत्र Upload करना होगा।
  • आवेदक को संस्थागत प्रसव पंजीकरण का प्रमाण पत्र भी Upload करना होगा
  • आवेदक को शपथ पत्र भी Upload करना होगा।

श्रेणी 2 :- यदि कन्याओं का टीकाकरण पूर्ण हो गया है तो उन कन्याओं के लिए MKSY Category 2

  • श्रेणी 2 के अंतर्गत जिन कन्याओ का सभी टीकाकरण पूर्ण हो चुका हो उन्हें आगे का आर्थिक लाभ उठाने के लिए कन्या के टीकाकरण कार्ड के साथ शपथ पत्र आवेदक को Upload करना अनिवार्य है।

श्रेणी 3 :- प्रथम कक्षा में प्रवेश लेने पर MKSY Category 3

  • यदि कन्या का नामांकन किसी सरकारी विद्यालय या मान्यता प्राप्त किसी संस्था में होता है तो उसके नामांकन के समय उसी वर्ष 31 जुलाई या विद्यालय में प्रवेश करने से लेकर नामांकन की अंतिम तिथि के 45 दिनों के भीतर ही प्राथना पत्र अपलोड करना होगा।
  • कन्या का कक्षा 1 में प्रवेश लेने से संबंधित प्रमाण पत्र के साथ उस विद्यालय का कोड भी देना अनिवार्य है।
  • साथ ही शपथ पत्र भी फिर से अपलोड करना होगा।

श्रेणी 4:- कक्षा 6 में प्रवेश लेने पर कन्याओ के लिए MKSY Category 4

  • किसी सरकारी विद्यालय या मान्यता प्राप्त विद्यालय में प्रवेश लेने के बाद 31 जुलाई से पहले प्रमाण पत्र में साथ शपथ पत्र भी Upload करना होगा।
  • कक्षा 6 में प्रवेश लेने के बाद कक्षा 6 से संबंधित प्रमाण पत्र के साथ विद्यालय का कोड भी Upload करना होगा।

श्रेणी 5: – कक्षा 9 में प्रवेश लेने पर कन्याओं के लिए MKSY Category 5

  • श्रेणी 5 के अंतर्गत कक्षा 9 में प्रवेश लेने वाली कन्याओं को कक्षा 9 में प्रवेश होने के दस्तावेज Upload करने होंगे।
  • कक्षा 9 में प्रवेश से संबंधित दस्तावेज के साथ विद्यालय का कोड भी देना होगा।

श्रेणी 6 :- स्नातक/डिग्री और डिप्लोमा करने वाली कन्याओ के लिए MKSY Category 6

  • स्नातक/डिग्री या डिप्लोमा करने वाली बालिकाओं के लिए प्रवेश लेने के बाद 30 दिसम्बर तक या चालू सत्र में ही पंजीकरण करने की अंतिम तिथि के 45 दिन के अंदर प्राथना पत्र जमा करना होगा।
  • कक्षा 12वीं का प्रमाणपत्र भी जमा करना होगा।
  • बालिकाओं ने जिस भी विश्वविद्यालय या मान्यता प्राप्त संस्था में स्नातक, डिग्री या डिप्लोमा के लिए प्रवेश लिया है उसे उस विश्विद्यालय का प्रवेशपत्र के साथ प्रवेश में लगी शुल्क की रसीद, संस्था का परिचयपत्र इत्यादि जमा करना होगा।
  • शपथ पत्र भी जमा करना होगा।

Kanya Sumangla Yojna के लिए योग्यता

मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना एक राज्य स्तरीय योजना है इसलिये आप अपने राज्य सरकार द्वारा चलाई गई कन्या सुमंगला योजना का ही लाभ उठा सकते हैं। अगर आप दूसरे राज्य के अंतर्गत सुमंगला योजना का लाभ उठाना चाहते है तो आपको उस राज्य का स्थायी निवासी होना हो अन्यथा आप दूर राज्य के अधीन इस योजना का लाभ नही उठा सकते।

यह योजना उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा 2019-20 में शुरू की गई है इसलिये यूपी स्थाई निवासी ही इस योजना का लाभ उठाएंगे। इस योजना का लाभ उठाने के लिए एक नागरिक में निम्नलिखित योग्यता होना चाहिए जो इस प्रकार है-

  1. वह व्यक्ति स्थाई रूप से उत्तर प्रदेश का निवासी होना चाहिए।
  2. उस व्यक्ति के पास निवास प्रमाणपत्र होना चाहिए।
  3. निवास प्रमाण पत्र के साथ-साथ व्यक्ति के पास आधार कार्ड/वोटर कार्ड/राशन कार्ड/बिजली बिल/टेलीफोन बिलइत्यादि होना चाहिए।
  4. किसी कन्या के आवेदन करने के लिए व्यक्ति का वार्षिक आय 3 लाख रुपए से कम होना चाहिऐ।
  5. किसी भी परिवार से केवल दो कन्याओं का ही रजिस्ट्रेशन मान्य होगा।
  6. अगर किसी महिला के एक कन्या पहले से ही हो और दूसरे प्रशव के बाद यदि दो जुड़वा कन्या पैदा होती है तब भी केवल दो बच्चियों को ही इस योजना का लाभ मिलेगा।
  7. अगर बालिका गोद ली हुई है तो ऐसी स्थिति में उस परिवार की जैविक संतान या गोद ली हुई संतान दोनो को मिलाकर भी किन्ही दो कन्याओं को ही इस योजना का लाभ मिलेगा।

MKSY योजना का लाभ उठाने के लिए जरूरी दस्तावेज (Required Docmunets)

चूँकि मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना उत्तर प्रदेश राज्य सरकार योगी आदित्यनाथ जी के द्वारा चलाई गई एक राज्य स्तरीय योजना है, इसका लाभ लेने हेतु Online Registration का सहारा लेना होगा। इस योजना के लाभार्थी उत्तर प्रदेश राज्य की सभी पात्र लड़कियाँ, बच्चियाँ होंगी। इस योजना का लाभ लेने के लिए व्यक्ति के पास सभी निम्नलिखित दस्तावेज होना चाहिए-

  1. उस कन्या जिसका रजिस्ट्रेशन करना हो आधार कार्ड होना चाहिए यदि नही तो माता पिता का आधार कार्ड होना चाहिए।
  2. अभिभावक के पास राशन कार्ड होना चाहिए जिसमे उस बालिका का नाम शामिल हो।
  3. आय प्रमाण पत्र होना चाहिए।
  4. अभिभावक/अभ्यर्थी का पैन कार्ड/वोटर आईडी कार्ड/ ड्राविंग लाइसेंस/पासपोर्ट/बैंक पासबुक इत्यादि होना चाहिए।
  5. कन्या का जन्म का फोटो होना चाहिए।
  6. यदि आपकी कन्या गोद ली हुई है तो उसका प्रमाण पत्र होना अनिवार्य है।

Kanya Sumangla Yojna Online Registration Form

मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना का लाभ लेने के लिए Online प्रक्रिया को जारी कर दिया गया है। आप ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन कराकर इस योजना का लाभ उठा सकते है। इसके लिए Online Registration प्रक्रिया समझना बहुत ही जरूरी है तो चलिए निचे हम इसकी जानकारी आपको विस्तार से देते है।

  1. सबसे पहले मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना के आधिकारिक वेबसाइट http:/mksy. up. gov. in/ को Open करना है।
  2. आधिकारिक वेबसाइट पर जाने के बाद आपको “Quick Links” के Section के अंदर दिए गए “Citizen Service Portal” के Option में “Apply Here” पर क्लिक करना होगा।
  3. Apply Here पर क्लिक करने के बाद आपके सामने “New User Registration Form” खुल जायेगा।
  4. आप फॉर्म में दिये गए सभी मुख्य जानकारियों को सही-सही भर दें। फॉर्म भरने के बाद नीचे दिये गए दिशानिर्देश को स्वीकार करते हुए स्क्रॉल करके “मैं सहमत हूँ” option पर क्लिक करते हुए “जारी रखे” बटन पर क्लिक करना है।
  5. अब यहाँ आपको कुछ और भी जानकारी बतानी होगी। मोबाइल नम्बर दर्ज करने के बाद भेजे गए OTP (One Time Password) के माध्यम से वेरीफाई करना होगा।
  6. जैसे ही आप ओटीपी के माध्यम से वेरीफाई कर देते हैं वैसे ही आपका रजिस्ट्रेशन फॉर्म पोर्टल के ऊपर आ जाएगा जिसमे आपको UserID के साथ Password मिल जाएगा।
  7. उसके बाद आप अपना User Id और Password के बदौलत Login करके अपना Registration Form आगे बढ़ा सकते है।
  8. Login करते ही आपको मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना के लिए Online Registration Form खुल कर सामने आ जायेगा।
  9. Registration Form में बड़े ही ध्यान से सब कुछ सही-सही भरें उसके बाद चेक करें गलतियां सही कर लें इसके बाद फाइनल सबमिट कर दे।
  10. फाइनल सबमिट करते ही आपको एक Application Reference Number दिखेगा। इस नम्बर को आप भविष्य के लिए सुरक्षित रखे ताकि आवेदन की स्थिति को चेक करने में सहायता मिल सकें।

Kanya Sumangla Yojna का उद्देश्य

मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना (Kanya Uthan Yojna) उत्तर प्रदेश राज्य सरकार द्वारा बालिकाओं एवम महिलाओं को सामाजिक सुरक्षा के साथ साथ उनके भविष्य को उज्ज्वल बनाने के उद्देश्य से की गई एक सफल प्रयास है। बालिकाओं को आत्म निर्भर बनाने के लिए उनके विकास को बेहतर बनाने के लिए नए अवसर प्रदान करना ही इस योजना का लक्ष्य है जो बहुत ही आवश्यक है।

क्योंकि समाज मे फैली कुरीतिया, असमानता एवं भेद-भाव जैसे कन्या भ्रूण हत्या, बाल विवाह, असमान लिंगानुपात एवम बालिकाओं के प्रति नकारात्मक सोच के कारण आज भी बालिकाएँ एवम महिलाएं अपने जीवन संरक्षण, शिक्षा एवम स्वास्थ्य से बहुत दूर हैं। इसलिए इन सामाजिक कुरीतियों को दूर करने और बालिकाओं को स्वावलंबी बनाने में आर्थिक मदद करने के उद्देश्य से ही उत्तर प्रदेश राज्य सरकार ने अपने राज्य में इस योजना को लागू किया है।

Kanya Uthan Yojna इस योजना के प्रयास से जहां एक ओर समाजिक लोगो का बेटियों के प्रति जागरूकता मिलेगी, कन्या भ्रूण हत्या, वाल विवाह और भेद-भाव जैसी कुरीतियों की रोकथाम होगी वही दूसरी ओर कन्याओं, बालिकाओं को मान सम्मान, शिक्षा के साथ-साथ रोजगार भी प्राप्त होगा। उत्तर प्रदेश सरकार का इस योजना को लागू करने का मुख्य उद्देश्य महिला सशक्तिकरण करना है।

Benefits of Kanya Sumangla Yojna (कन्या सुमंगला योजना के लाभ)

उत्तर प्रदेश मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने यूपी बजट के तहत मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना Kanya Utthan Yojna के लिए 1200 करोड़ रुपये की राशि खर्चा करेगी। इस आर्थिक सहायता को सरकार कई श्रेणियों में विभाजित की है। जिसमे जन्म लेने से लेकर डिग्री तक, विवाह के समय आर्थिक लाभ के रूप में आवंटित की जाएगी। इस योजना का लाभ उत्तर प्रदेश के स्थाई निवासी ही ले सकते है।

इस योजना का लाभ निम्नलिखित श्रेणियों से दिया जाएगा-

  1. राज्य सरकार द्वारा इस योजना के अंतर्गत बालिकाओं को 15000रु की धनराशि उनके बैंक खाते में जमा कर दी जायेगी। जो 6 क़िस्त में संपन्न होगा। यह धनराशि PFMS के माध्यम से लाभार्थियों के बैंक खाते में जमा कर दी जाएगी।
  2. श्रेणी 1 के अंतर्गत आने वाली बालिकाओ को 2000रु की धनराशि का लाभ मिलेगा।
  3. श्रेणी 2 के अंतर्गत आने वाली बालिकाओं को 1000रु की धनराशि का लाभ दिया जाएगा।
  4. श्रेणी 3 के तहत आने वाली बालिकाओं को 2000रु की धनराशि का लाभ दिया जाएगा।
  5. श्रेणी4 के अन्तर्गत आने वाली बालिकाओं को 2000रु की धनराशि का लाभ मिलता हैं।
  6. श्रेणी 5 के तहत आनेवाली बालिकाओ को 3000रु कि धनराशि का लाभ मिलता हैं
  7. श्रेणी 6 के तहत आनेवाली बालिकाओं को 5000रु की धनराशि का लाभ मिलता है

Conclussion

तो उम्मीद है की Kanya Sumangla Yojna का यह पोस्ट आपको पसंद आई होगी आप हमारे इस पोस्ट को आपने दोस्तों के साथ शेयर कर हमारा मनोबल बढ़ा सकते है ताकि हम इसी तरह और भी नई-नई जानकारियाँ आप सब के लिए लिख सके। यदि आपका कोई सवाल या सुझाव है तो आप हमें निचे कमेंट बॉक्स में बता सकते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here