Gussa Kya Hai? गुस्सा आये तो क्या करे? गुस्से को कैसे शांत करे?

What is anger in Hindi? Gussa Kya Hai or Gusse ko kaise control kare Puri Jankari Hindi Mein

What is anger in Hindi? – नमस्कार दोस्तों, गंगाज्ञान पर आपका स्वागत है। हम अक्सर कुछ लोगो को बहुत ही ज्यादा गुस्सा करते हुए देखते हैं गुस्से के कारण हमें बहुत सारी तकलीफों को समन करना पड़ता है। गुस्से के कारण हम शारीरिक और मानसिक दोनों तरह से अस्वस्थ्य हो जाते हैं अगर गुस्सा साधारण रूप से आता है तो हमे कोई प्रॉब्लम नही होती हैं। लेकिन जब गुस्सा हमारे मन मस्तिक पर हावी होने लगता है और हमारे माइंड को disturb करने लगता है तो हमारा मस्तिष्क अस्थिर हो जाता है जिससे हमारे जीवन पर बहुत ही प्रभाव पड़ता है। आज हम Gussa Kya Hai? और गुस्से से सम्बंधित सभी जानकारी विस्तार से जानेंगे।

gussa-kya-hai

आज के इस पोस्ट में हम आपको बताने जा रहें हैं कि गुस्सा क्या होता है ? हमे गुस्सा कब और क्यों आता है? गुस्से से हमे क्या हानियाँ पहुँचती है? और गुस्से को कंट्रोल कैसे करे? तो चलिए शुरू करते हैं

Gussa Kya Hai? (गुस्सा क्या है?)

गुस्सा इंसान को अपनी भावना व्यक्त करने के तरीकों में से ही एक ऐसा तरीका है जिसमे लोग अपने डर, लालच , अहंकार , घमण्ड, बुराई ,दुर्व्यहार, ईर्ष्या, ईगो हार्ट, अपमान इत्यादि को व्यक्त करके अपने मन की भड़ास निकालते है। गुस्सा हर इंसान के अंदर छुपा हुआ रहता है। जो एक सूखे हुए तिनके के समान होता है लेकिन जैसे ही उसमे चिंगारी पड़ती है तो यह गुस्सा हम हावी होने लगता है भगवत गीता में गुस्सा को नर्क का द्वार कहा गया है।

अर्थात गुस्सा जीवो के अंदर उत्पन्न होने वाला एक प्राकृतिक नियम है। गुस्सा किसी भी चीज का हल नही होता है बल्कि गुस्सा हमे जिंदगी से अकेला कर देता है। अर्थात गुस्सा एक ऐसी आग है जो पहले तो खुद को जलाती है फिर प्रत्येक सामने वालो को जलाती है। आइये Gussa Kya Hai? इसके बारे में हम और भी कुछ जानकारी प्राप्त करते हैं।

हमे गुस्सा क्यों आता है?

गुस्सा इंसान का शत्रु माना जाता है। किसी चीज या बात को लेकर बहुत ज्यादा negative reaction करने से गुस्सा आता है। अगर कोई भी व्यक्ति हमारे साथ अन्याय करता है तो हमे गुस्सा आता है। किसी के द्वारा अपमान, डर , घमण्ड, दुर्व्यवहार ,एक हार्ट की समस्या लालच ,बुराई इत्यादि अगर इस प्रकार की परिस्थिति उत्पन्न होती है तो हमे गुस्सा आता है।

ऐसी परिथिति जिसमे हमारे मन मुताबिक नही होता है तो हमे गुस्सा आता है । जब हम अपने आस पास कुछ गलतियां होते हुए देखते हैं और सामने वाला उन गलतियों को स्वीकार नही करता है तब हमें गुस्सा आ जाता है। अर्थात दो बिचारो के आपस मे टकराव के कारण गुस्सा आता है । साथ ही यदि हम अपने emotion पर नियंत्रण नही कर पाते हैं तो हमे गुस्सा आता है। गुस्से के कारण हम अपनी सोचने समझने की क्षमता खो देते हैं ।

शास्त्र के अनुसार ग्रहों की स्थिति खराब होने के कारण इंसान को अलग अलग प्रकार के गुस्से आते हैं । सभी ग्रह अलग अलग तरह के गुस्से को हावी करते हैं । जैसे :- वृहस्पति, शनि, मंगल, शुक्र ,बुध ,ये सारे ऐसे ग्रह है जिनकी स्थिति खराब होने पर ये इंसान की निजी जिंदगी को भी खराब कर देती है।इसके ककारण कुछ लोग चिड़चिड़ा हो जाता है तो कुछ बात बात पर गुस्सा करते हैं तो कुछ बहुत ज्यादा गुस्सा करते हैं और बात बात पर चिल्लाने लगते हैं।

इसे भी पढ़े –

ऐसे गुस्से मंगल और बुध ग्रह के मेल से आते हैं। ऐसे लोग गुस्से को न तो काबू कर पाते हैं और ना ही इससे उबर पाते हैं। ऐसे ग्रहों के कारण इंसान की positive thinking खत्म होने लगता है। उनका confidence ,patience खोने लगता है। और negativity हावी होने लगता है। ग्रहों की स्थिति खराब होने के कारण इंसानो में क्रोध उत्पन्न करने की प्रवृति उत्पन्न होने लगती है। ऐसे प्रवृति के लोगों को इससे बचने के पूजा पाठ ,दान पुण्य करना चाहिए। मीठे भोजन करने से जीवन मे भी मिठास बना रहता है। ठीक भोजन करने से जीवन मे इसी प्रकार कड़वाहट बना रहता है। इसलिए खाने पीने की चीजों पर विशेष ध्यान देना चाहिए।

गुस्सा करने से होने वाले नुकसान क्या है?

गुस्सा करने से हमारे स्वास्थ्य पर बहुत ही बुरा प्रभाव पड़ता है कुछ लोगो का बात बात गुस्सा करना और चिल्लाना यक आदत बन जाता है। वे हमेशा चिड़चिड़े रहते हैं रह समय उनके मस्तिष्क में गुस्सा भर रहता है जो बाद में गुस्से पर काबू पाना कठिन बन जाता है। जिस प्रकार कान का काम होता है सुनना ,जीभ का काम होता है स्वाद लेना उसी प्रकार दिमाग का काम होता है सोचना ।

जिस प्रकार heart को हम धड़कने से नही रोक सकते उसी तरह दिमाग को भी हम सोचने से नही रोक सकते लेकिन यह तब तक ठीक रहता है जब तक सन्तुलित रहता है। आइये जानते है कि गुस्से का हमारे श्री और मन पर क्या प्रभाव पड़ता है–

  1. गुस्सा करने से दिमाग बहुत ज्यादा गर्म हो जाता है। और uncontrol हो जाता है।
  2. कभी कभी ज्यादा गुस्सा करके चिल्लाने से आवाज भी चली जाती है। इंसान गूंगा भी हो सकता है। इंसान बोल नही पाता है इसके लिए EGC test और इलाज कराना पड़ सकता है।
  3. गुस्सा करने से इंसान depression का शिकार हो जाता है।
  4. गुस्सा blood pressure को बढ़ावा देता है। अर्थात गुस्से के कारण ब्लड प्रेशर की बीमारी हो जाती है।
  5. गुस्सा करने से Heart ब्लॉकेज ,हार्टअटैक और भी गम्भीर और जानलेवा रोगों को बढ़ावा मिलता है।
  6. गुस्सा करने से ब्लड circulation तेज हो जाता है। जिसको अगर दिमाग ही अनियंत्रित रहे और कंट्रोल न कर पाए तो ऐसी परिस्थिति में दिल कमजोर हो सकता है।

इस प्रकार गुस्सा करने से हमे बहुत ही कठिनाइयों का सामना करना पड़ता है। जिस घर मे गुस्सा लड़ाई, झगड़े होते हैं वो घर कभी भी सुखी सम्पन नही बन पाता है क्योंकि क्रोध करना इंसान के बर्बादी का सबसे बड़ा शत्रु होता है। इसलिए हमें ज्यादा गुस्सा कभी नही करना चाहिए। अब आप समझ गए होंगे Gussa Kya Hai?

गुस्सा आये तो क्या करे?

जब हम साधरण रूप से गुस्सा करते हैं तो हमे चिंता करने की जरूरत नही पड़ती है। यह बहुत बड़ी बात नही बन सकती है। और न ही इससे किसी प्रकार की मानसिक या शारीरिक हानि हो सकती है। लेकिन जब गुस्सा काफी ज्यादा हावी होने लगता है तब इसके बहुत सारी दुष्प्रभाव होने लगता है। तो चलिए जानते है कि गुस्से पर काबू कैसे किये जा सकते हैं –

  1. गुस्सा control करने के लिए mind को स्थिर रखने बहुत ही important होता है। इसके लिए meditation करने चाहिए। हमे अपने दिमाग को किसी एक विचार पर फोकस करने के लिए हर दिन अभ्यास करना चाहिए।
  2. हमे व्यायाम और योगा ज्यादा करने की जरूरत होगी। व्यायाम करने से दिमाग और जिससे को शांत कोय जा सकता है।
  3. अगर कोई आपको बिना वजह गुस्सा दिलाता है तो उससे बहस करने के बजाय चुपचाप वहां से हट जाना चाहिए। और गुस्से को काबू करने के लिए किसी शांत और एकांत जगह पर चले जाएं।
  4. नशीले पदार्थो के सेवन से परहेज करें। क्योंकि गुस्से के कारण शरीर की आंतरिक क्रियाओं में परिवर्तन हो जाता है। हो सकता है ब्लड प्रेशर बढ़ा हो, blood circulation तेज हो गया हो या फिरगुस्से को दिल बर्दास्त नही कर पा रहा हो इत्यादि इस प्रकार कोई भी प्रतिक्रिया हो सकती है। ऐसे स्थिति में यदि आप शराब या अन्य नशीले पदार्थो का सेवन करते हैं तो आपका सेहत बुरी तरह से बिगड़ जाएगा और आपका आंतरिक अंग damage हो सकता जी।
  5. अगर कोई आपको गुस्सा दिलाये या आपको हो किसी पर गुस्सा आये तो कोशिश करना चाहिए कि कुछ भी बोलने से पहले आवाज कम करके बोले और भाषा मे मिठास लाते हुए गुस्से को कहा जाए । ऐसा गुस्सा करे जिसमे नम्रता हो और गलत शब्दो का इस्तेमाल भी सामने वाले को बुरा न लगे। और आपका गुस्सा भी शांत होने लगे
  6. अगर कोई आपके लाख सही होने पर भी गुस्सा दिलाये तो तुरंत वह से हटकर कही अलग चले जाएं ।इस तरह उस इंसान म आवाज भी नही सुनना पड़ेगा ।और अपने नुकसान से भी बचेंगे।
  7. अगर आपके दिमाग़ में छोटी छोटी बातों पर बार बार गुस्सा आये और आप चिड़चिड़ा महसूस करे तो आप अच्छे चीजो की imaging करे। सुखी दिनों को याद करे उस matter पर से ध्यान हटा दे । दूसरे बातो को ध्यान में लाने की कोशिश करे अगर ऐसा नही मर पाते है तो अच्छे गीत गाने सुने ।
  8. यदि आप किसी बात को लेकर सोच सोच कर बार बार गुस्सा करते हैं तो उस matter को भूल ही जाइये । आगे की लाइफ के बारे में अच्छा करने की ठान लीजिये। कल्पना कीजिये किसी की क्या औकात जो मुझे कमजोर बना सके मैं तो बिंदास हूँ।
  9. यद्यपि कोई अपनी गलतियों पर माफी मांगता है तो माफ कर देना चाहिए इससे आपका गुस्सा भी कम हो जाएगा ।
  10. अगर कोई आपका ego heart करे तो ऐसा सोचिए उसके बातो से मुझे कोई फर्क नही पड़ने वाला, मैं तो शांत स्वभाव का हूँ । यक कहावत इस प्रकार है – हाथी चले बाजार तो कुत्ता भोके हजार अर्थात ( महान या धनी पुरुष को देखकर तुक्ष प्राणी जलते है लेकिन इन लोगो पर उसका कोई प्रभाव नही पड़ता है और वे महान ही कहलाते है) यानी हाथी की तरह बनिये । इससे गुस्सा आप पर हावी नही होगा।

इसे भी पढ़े –

इस तरह गुस्सा भगाने के लिए माइंड को control करना बहुत ही important होता है माइंड को स्थिर करना बहुत important तरीका है। इसके लिके हमेशा पॉजिटिव सोचे ,meditation करे games खेलें music सुने ,डांस करें, बुक्स पढ़ें, गुड feeling करना सीखें, morning walk पर ज्यादा ध्यान इत्यादि इस प्रकार अनेको उपाय अपनाकर माइंड और गुस्से को कंट्रोल कर सकते है।

उम्मीद है Gussa Kya Hai? What is anger in Hindi? गुस्से से सम्बंधित यह जानकारी आपको बेहद पसंद आई होगी। आप इस जानकारी को अपने मित्रों के पास शेयर कर के हमारा मनोबल बढ़ा सकते है ताकि हम इसी तरह और जानकारियां आपके लिए लिख सके।

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here