Computer क्या है? एवं Types of Computer in Hindi

Computer Kya Hai Computer Ke Prakar (Types of Computer) Computer ke Bare me Puri Jankari Hindi Me

Computer Kya Hai and Types of Computer in Hindi – हेलो दोस्तो गंगाज्ञान पर आप सब का फिर से स्वागत है आज हम इस पोस्ट के माध्यम से Computer Kya Hai? एवं कंप्यूटर के प्रकार के बारे में पूरी जानकारी देने वाले है। अगर आप भी Computer Kya Hai एवं कंप्यूटर के प्रकार के बारे में जानना चाहते है तो हमारे इस पोस्ट को जरूर पढ़ें और आपने दोस्तो के साथ शेयर करें।

computer-kya-hai

आज के समय मे जिन लोगो को Computer चलाना नही आता उन्हें काम करना काफी मुश्किल हो जाता हैं कंप्यूटर आज के समय मे इतना जरूरी बन चुका हैं जितना कि शिक्षा का महत्व हैं। अभी तो एजुकेटेड इंसान को भी बिना कंप्यूटर जानकारी के जॉब मिलना बहुत मुश्किल हो गया है हालांकि अगर आपको कोई बेसिक नॉलेज के साथ किसी सॉफ्टवेयर में जानकारी हैं तो फिर आपको जॉब मिलने में ज्यादा मुश्किल नही होंगी। सॉफ्टवेयर के बारे में जानने से पहले आपको उस यंत्र के बारे में बेसिक नॉलेज रखना होगा।

आज कल आपने देखा होगा सरकारी कार्यालय हो या प्राइवेट हर जगह कंप्यूटर का प्रयोग होता है कुछ साल पहले तक इन जगहों पर आपने काम के लिए फ़ाइल और पेपर वर्क किया जाता था। लेकिन अब कंप्यूटर का ऐसा विस्तार हुआ कि हर जगह कंप्यूटर पर ही वर्क होता है। इस लिए लिखने और हिसाब के घंटो के काम और होने वाले गलतियों को न के बराबर कर दिया गया हैं। आइये जानते हैं इसी कंप्यूटर यन्त्र के बारे में ‘Computer Kya Hai’ और ‘Computer ke Prakar’.

Computer Kya Hai?

वैसे तो Computer एक Electronic Machine हैं जो तय निर्देशो के अनुसार किसी भी कार्य को Process करता हैं। यह एक ऐसा मशीन है जिसे जानकारी प्राप्त करने के साथ-साथ काम करने के लिए बनाया गया हैं। कंप्यूटर को हिंदी में (Hindi Meaning of Computer) संगणक कहा जाता है जो 0 और 1 यानि Binary Language के आधार पर कार्य करता है। Computer के शब्द को Latin से लिया गया हैं Latin का अर्थ होता हैं Calculation करना या गणना करना।

मॉडर्न कंप्यूटर का जनक चार्ल्स बैवेज (Charls Babej) को कहा जाता है क्योंकि इन्होंने ही सबसे पहला मैकेनिकल कंप्यूटर को डिजाइन किया था जिसे Analytical Engine के नाम से भी जाना जाता हैं, वैसे चार्ल्स बैबेज द्वारा बनाये गए कंप्यूटर का नाम ENAIC (Electronical Numerical Integrator and Calculator) था। इसमे Punch Card की सहायता से डाटा को Insert किया जाता हैं।

कंप्यूटर का मुख्य तौर पर तीन कार्य होते है जिसमे पहला कार्य डाटा को लेना जिसे हम Input कहते हैं, दूसरा कार्य उस डाटा को Processing करना होता हैं और तीसरा कार्य उस Processed डाटा को दिखाना होता हैं जिसे हम Output कहते हैं। Computer को एक ऐसा Advanced इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस कह सकते हैं जो कि Raw Data को Input के तौर पर User से लेता हैं, फिर उस Data को Program के माध्यम से प्रोसेस करता हैं और लास्ट में परिणाम को Output के रूप में दिखता हैं। ये दोनों Numerical और Non Numerical Calculation को Process करता हैं।

Computer कैसे कार्य करता हैं?

क्या आप जानते है कि कंप्यूटर कैसे कार्य करता हैं। Computer कोई भी कार्य स्वयं नही करता हैं बल्कि हमारे द्वारा बनाए गए किसी प्रोग्राम के निर्देशानुसार कार्य करता हैं, हम कंप्यूटर से जुड़े इनपुट साधनों जैसे कि- Keyboard, Mouse, Scanner के द्वारा अपना निर्देश तथा डाटा कंप्यूटर को भेजते हैं जिसे कंप्यूटर के अंदर मौजूद एक Program हमारे निर्देश को प्राप्त करता है एवं प्राप्त निर्देश को अपने प्रोग्राम के कोडिंग के आधार पर उसे प्रोसेस करता है और प्रोसेस के बाद उसका परिणाम हमे आउटपुट यन्त्र जैसे Monitor, Printer इत्यादि पर दिखता है।

Input(Data):- Input वह Step हैं जिसमें सबसे पहले Raw Information को Input Device प्रयोग करके Computer में डाला जाता हैं। यह different Type के होते है जैसे कि Letter, Number, Picture तथा Video भी हो सकते हैं। कंप्यूटर के इस भाग में आने वाले यन्त्र Keyboard, Mouse, Joystick, Scanner और Mic इत्यादि आते है।

Process:- यह कंप्यूटर का एक Internal Process होता हैं जो Input हुए Data and Orders को Program Coding के Instruction के अनुसार Processing की जाती हैं। कंप्यूटर के इस भाग में आने वाले यन्त्र को CPU (Central Process Unit) कहा जाता है।

Output:- Output Process data को रिजल्ट के रूप में दिखता हैं जो Output के दौरान जो डाटा पहले से Process हो चुकी हैं उसे स्क्रीन पर show किया जाता हैं और अगर हम चाहे तो result को Save कर Computer Memory में स्टोर भी कर सकते हैं। कंप्यूटर के इस भाग में आने वाले यन्त्र Monitor, Printer आदि है।

Computer के प्रकार

वैसे तो Computer कई प्रकार के होते हैं कंप्यूटर विभिन्न प्रकार के shapes और Size के आते हैं। जब कभी भी हम कंप्यूटर शब्द का नाम सुनते हैं तो हमारे सामने कंप्यूटर का ही चित्र आता हैं। हम जरूरत के अनुसार ही इनका प्रयोग करते हैं। आज के समय मे हर कार्य कंप्यूटर के माध्यम से ही किया जाता हैं शिक्षा के क्षेत्र में या Calculation बहुत सारे कार्य कंप्यूटर के माध्यम से होने लगे हैं। आइये हम कंप्यूटर के कार्य के अनुसार इसके प्रकार को समझते है।

इसे भी पढ़े –

कार्य के अनुसार कंप्यूटर 3 प्रकार के होते है –

  1. Analog Computer – यह कंप्यूटर आज से कई वर्ष पूर्व Scientific Research (विज्ञानं अनुसन्धान ) के लिए प्रयोग किया जाता था, परन्तु अब इसका प्रयोग बंद कर दिया गया है लेकिन इसके कुछ भाग Hybridge Computer में लगाए गए है जो अभी भी प्रयोग में लिए जाते है।analog computer
  2. Hybrid Computer- यह कंप्यूटर बड़े – बड़े Hospital के ICU Room में इलाज के लिए प्रयोग किया जाता है इस कंप्यूटर में कुछ भाग Analog Computer तथा कुछ भाग Digital Computer के होते है दोनों को मिला कर इस कंप्यूटर का प्रयोग किया जाता है।hybrid-computer
  3. Digital Computer – यह कंप्यूटर का तीसरा प्रकार है जिसका प्रयोग बड़े – बड़े कार्यालयों में Data Process कार्य के लिए किया जाता है यह कंप्यूटर कार्य के अनुसार 4 प्रकार का होता है।

Digital Computer के प्रकार –

(a) Micro Computer – यह Digital Computer का सबसे पहला प्रकार है जो आकर में सबसे छोटे आकर का होता है तथा इसका कार्य भी छोटी -मोटी डाटा को प्रोसेस करना होता है। सुविधा के अनुसार यह 3 प्रकार का होता है –

  • PC – (Personal Computer) – इस कंप्यूटर के सभी भाग अलग अलग होते है जिन्हे केबल के माध्यम से जोड़ कर प्रयोग किया जाता है इस कंप्यूटर को हम अपने कार्यालय में एक स्थान या टेबल पर फिक्स कर के प्रयोग कर सकते है इसे अपने साथ कही लेकर जाया नहीं जा सकता। इस कंप्यूटर को Desktop Computer भी कहा जाता है।
  • LTC- (Laptop) – यह कंप्यूटर Briefcase यानि अटैची के सामान होता है जिसके सभी भाग एक साथ जुड़े हुए होते है इसे हम अपने साथ कही भी लेकर जा सकते है तथा इस कंप्यूटर में 12 V की बैटरी लगी होती जिसके कारन 2-3 घंटे हम कही भी इसे चला सकते है।
  • PTC (Palm Top Computer) Tablet- Tablet जिसे हम Handheld Computer भी कहते हैं क्योकि इसे बहुत ही आसानी हाथों में पकड़ सकते हैं इसमे Mouse और Keyboard नही होता हैं सिर्फ Touch Sensitive स्क्रीन होता हैं जिसे Typing और Navigation के लिये प्रयोग किया जाता हैं ।

(b) Mini Computer- मिनी कंप्यूटर Micro Computer से ज्यादा शाक्तिशाली है इसका प्रयोग बड़े बदे कार्यालयों की लंबी – लंबी डेटा एंट्री के लिए प्रयोग किया जाता है।

(c) Manframe Computer – यह कंप्यूटर Mini Computer से भी ज्यादा शक्तिशाली कंप्यूटर है साथ ही यह Multi User भी Support करता है यानि एक साथ कई लोग इस कंप्यूटर पर अलग-अलग काम कर सकते है।

(d) Super Computer – यह कंप्यूटर अभी तक बनाये गए सभी कंप्यूटर से ज्यादा शक्तिशाली कंप्यूटर है इस कंप्यूटर का प्रयोग विज्ञानं के कार्यों के लिए किया जाता है।

Computer ka प्रयोग

वैसे तो कंप्यूटर का प्रयोग मनोरंजन आदि के लिए भी किया जाता है कई लोग इसे सौख के लिए भी अपने साथ रखते है परन्तु कुछ मुख्य कार्यों के लिए कंप्यूटर का प्रयोग विशेष रूप से किया जाता है –

शिक्षा के क्षेत्र में

आज के समय मे शिक्षा के क्षेत्र में कंप्यूटर का बहुत बड़ा योगदान बन गया हैं अगर कोई स्टूडेंट किसी चीज के बारे में जानकारी प्राप्त करना चाहता है तो उसे कुछ मिनटों में कंप्यूटर के माध्यम से जानकारी उपलब्ध हो जाती हैं। रिसर्च से पता चला हैं कि कंप्यूटर के माध्यम से Learning Performance बहुत बढ़ी हैं। आज कल घर बैठे कंप्यूटर की सहायता से Online Classes से पढ़ाई भी पूरी की जा सकती हैं।

विज्ञान के क्षेत्र में

आज कल एक नया ट्रेंड चल रहा हैं जिसे Collaboratory भी कहा जाता हैं। जिससे जितना scientist चाहे उतने एक साथ मिल कर काम कर सकते हैं। इसमे यह फर्क नहीं पडता की आप कौन से देश से है इसमें सभी देश के साइंटिस्ट मिल कर कार्य कर सकते हैं। Science की ही देन हैं कि इससे Research में बहुत आसानी होती हैं।

Health And Medicine

यह Health और Medicine के लिए भी बहुत सहायक हैं। इसकी मदद से आजकल मरीजों का इलाज बहुत ही आसानी से हो रहा हैं। आज के टाइम में सभी चीजें Digital हो गई हैं जिससे बहुत आसानी से रोगों के बारे में पता चल जाता हैं और इलाज भी बहुत आसानी से किया जा सकता हैं इससे Operation भी आसान बन गए हैं।

Business

आज कल Computer से ऑनलाइन बिज़नेस बहुत ही आसान हो गया हैं Productivity और Competitiveness को बढ़ाने के लिए इसका प्रयोग मुख्य तौर से Marketing, Retailing, Banking, Stock Trading में होता हैं। यहाँ सभी चीजें Digital होने की वजह से इसकी Processing बहुत फ़ास्ट हो गई हैं और आजकल Cashless Transaction पे ज्यादा महत्व दिया जा रहा हैं।

Government

यदि हम बात करे गवर्मेंट की तो आजकल गवेर्मेंट भी इसके प्रयोग पर ज्यादा फोकस कर रही हैं आजकल Traffic, Tourism, Information & Broadcasting, Education, Aviation सभी जगह में कंप्यूटर के प्रयोग से हमारा कार्य बहुत आसान हो गया हैं। सेना में भी इसका प्रयोग काफी हद तक बढ़ गया हैं जिसकी मदद से अब सेना ज्यादा सशक्त हो गई हैं क्योकि आज कल सभी चीजो को Computer से Control किया जाता हैं। साथ ही सरकार अपने सभी कार्यालयों के Paper Work को अब कंप्यूटर सिस्टम में बदल कर सभी सुविधएं सरल और आसान तरीके से उपलब्ध करा रही है।

उम्मीद है कि Computer Kya Hai एवं Computer Ke Prakar का यह पोस्ट आपको पसन्द आई होगी। आप हमारे इस पोस्ट को आपने दोस्तो के साथ शेयर कर हमारा मनोबल बढ़ा सकते हैं ताकि हम इसी तहर नई नई जानकारियाँ हिंदी में आप सब के लिए लिख सकें। अगर आपका कोई सवाल या सुझाव हो तो आप हमे नीचे Comment Box में बता सकते हैं।

नमस्कार दोस्तों, मैं अखिलेश प्रसाद GangaGyan.in ब्लॉग का एडमिन हूँ, इस ब्लॉग पर आपका स्वागत करता हूँ, इस ब्लॉग पर प्रतिदिन नई - नई जानकारियाँ लिखी जाती है। हम हर जानकारी को आपकी अपनी मातृभाषा (हिंदी) में लिखते हैं। लगातार हमसे जुड़े रहने के लिए हमें सोशल मीडिया पर फॉलो कर सकते है और कमेंट बॉक्स में अपनी राय जरूर दें ताकि हम और बेहतर कर सके, धन्यवाद।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here