Atmanirbhar Bharat – आत्मनिर्भर भारत अभियान क्या है?

Atmanirbhar Bharat – नमस्कार दोस्तों, गंगाज्ञान पर आप सभी का स्वागत है। दोस्तों, भारत बहुत पहले से भयंकर महामारियों जैसे शीतल रोग, कुष्ठ रोग, छुआछूत की बीमारी, कुपोषण इत्यादि अनेको प्रकार के संक्रमण का सामना बहुत ही हिम्मत से किया है। और उस पर काबू भी पाया है। इसी तरह एक संक्रमण कोरोना वायरस नामक बीमारी से एक बार फिर पूरा देश जूझ रहा है। आज पूरा संसार कोरोना वायरस से गुजर रहा है। जिस कारण सभी देशों में जन कर्फ्यू लगा किया गया है।

Atmanirbhar Bharat

यही स्थिति हमारे देश भारत मे भी है। इस कोरोना वायरस और lock-down के कारण देश की आर्थिक व्यवस्था पर बहुत ही बुरा असर पड़ा है। ऐसी स्थिति में देश की सरकार ने देश की अर्थव्यवस्था को मजबूत करने के लिए एक योजना बनाई है। जो Atmanirbhar Bharat अभियान है।

आज के इस आर्टिकल में हम आत्मनिर्भर भारत अभियान के बारे में पूरी जानकारी बताने जा रहे हैं। आत्मनिर्भर भारत अभियान क्या है ,आत्मनिर्भर भारत योजना का लाभ उठाने के लिए ऑनलाइन आवेदन कैसे करें? आत्मनिर्भर भारत अभियान राहत पैकेज । आत्मनिर्भर भारत योजना का लाभ।

आर्थिक राहत पैकेज क्या है? आत्मनिर्भर भारत अभियान का मुख्य उद्देश्य। कौन होगा लाभान्वित राहत पैकेज से। इस योजना से भारत आत्मनिर्भर भारत कैसे बनेगा। इत्यादि और भी केंद्र सरकार की महत्वपूर्ण घोषणाएं क्या है। के बारे में हम बहुत ही विस्तार से जानकारियां प्रदान करने वाले हैं। तो चलिए शुरू करते है।

Atmanirbhar Bharat Abhiyan in Hindi

हमारे देश भारत के प्रधानमंत्री माननीय श्री नरेन्द्र मोदी जी का बहुत ही पहले से एक सपना था कि हमारा भारत एक आत्मनिर्भर भारत बनकर उभरे। साथ ही आज कोरोना वायरस नामक महामारी ने भारत की रीढ़ को तोड़ने की कोशिश की है। इस महामारी की वजह से आज देश lockdown की स्थिति से गुज़र रहा है जिस कारण अर्थव्यस्था और नागरिकों पर बहुत ही बुरा असर हुआ है।

इसी बात को मद्देनजर रखते हुए यह कदम भारत सरकार द्वारा तैयार किया गया है। भारत सरकार प्रधानमंत्री माननीय श्री नरेन्द्र मोदी जी कोरोना महामारी के इस दौर में भारत की अर्थव्यवस्था को सुधारने के लिए 20 लाख करोड़ रुपये के राहत पैकेज की धोषणा की है। जिसका नाम उन्होंने आत्मनिर्भर भारत अभियान रखा है।

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी ने यह यह राहत पैकेज लोगो को कामकाज करने की सुविधा उपलव्ध करसन के लिए उपलव्ध कराई है। ताकि कोरोना महामारी को देखते हुए आने वाले समय मे भारत अपनी जरूरत की अधिकांश से अधिकांश वस्तुओँ और चीजो के लिए अपने स्वरोजगार के माध्यम से अपने आप पर निर्भर बने।

उन्हें किसी चीज की जरूरत होने पर दुसरो पर आश्रित न होना पड़े। प्रधानमंत्री जी ने लोगो को आत्मनिर्भर बनने के लिए कहा है इसलिए उन्होंने इस राहत पैकेज का नाम आत्मनिर्भर भरत रखा है।

Atmanirbhar Bharat Rahat Package

Atmanirbhar Bharat अभियान राहत पैकेज की घोषणा हमारे देश के प्रधानमंत्री माननीय श्री नरेन्द्र मोदी जी ने 12 मई 2020 को पूरे राष्ट्र को संबोधित करते हुए शाम 8:00 बजे किया था। उन्होंने पूरे भारत को संबोधित करते हुए इस राहत पैकेज को लेकर बहुत बड़ी घोषणाओं का एलान किया है। इस बात को लेकर उन्होंने बहुत ही अच्छी जानकारियां प्रदान करवाई है। यह राहत पैकेज विशेष रूप से भारतीय अर्थव्यवस्था को सुधारने के लिए यक गवर्नेन्स स्किम तैयार किया गया है।

क्योंकि इस वक्त कोरोना महामारी की वजह से उड़ देश मे कर्फ्यू लगा दिया गया है जिस कारण आर्थिक स्थिति की रीढ़ कमजोर हो चुकी है। इसलिए यह पैकेज आर्थिक स्थिति को देखते हुए आज के समय मे एक बहुत ही बड़ी रकम अदा करती है। यह रकम सब तक का सबसे बड़ी रकम है जो सरकार द्वारा घोषित किये गए है। इस आर्थिक पैकेज की बजट भारत मे पिछले दी गयी सभी पैकर्जो में से सबसे बड़ी राहत पैकेज है। जिसकी रकम भट ही बड़ी है यह पैकेज पूरे 20 लाख करोड़ रुपये की राहत पैकेज है।

इन 20 लाख करोड़ रुपये की आर्थिक पैकेज से देश की ऐसी जनसंख्या को लाभ पहुँचाया जाएगा जो विशेष रूप से कोरोना वायरस महामारी के इस संकट से गुजरे है। जो देश Lockdown की वजह से बहुत ही क्षतिग्रस्त हुए है और बहुत ही परेशानियां उठाई है। इसलिए इस महामारी को देखते हुए इस आत्मनिर्भर भारत योजना के अंतर्गत भारत के नागरिक तथा अर्थव्यवस्था को आत्मनिर्भर बनाने है ताकि जो नागरिक जहां है वही पर वे इसकी लाभ उठाएं और आर्थिक स्थिति को आत्मनिर्भर बनाये।

आत्मनिर्भर भारत अभियान उद्देश्य

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इस आत्मनिर्भर भारत योजना के द्वारा भारत 130 करोड़ जनता को आत्मनिर्भर बनाने की नींव डाली है । जिसमे लोगो की मदद से यह तैयार होगा। क्योंकि आज के दौर में Covid-19 महामारी की वजह से जो परिस्थिति बनी है उसके अनुसार नागरिको को आगे जीवन मे ऐसी स्थिति के कारण आर्थिक परेशानियां न झेलना पड़े ।इसलिए वे स्वयं पर निर्भर हो जाये न कि दूसरे पर।

क्योंकि आज देश का हर नागरिक कोरोना महामारी के प्रकोप से जूझ रहा है ऐसी स्थिति में भारत की अर्थ व्यवस्था और अपने जीवन को बचाने में नागरिको को सहयोग देना होगा। हालांकि मोदी जी का सपना था कि मेरा भारत आत्मनिर्भर बने। किसी चीज की जरूरत के लिए दूसरे देशों की मदद न लेवें। किन्तु आज के इस दौर में इस कोरोना महामारी ने लोगो और देश की आर्थिक स्थिति को कमजोर करने का प्रयास किया है। इसलिए इस समस्या से लोगो को उबारने के लिए यह आत्मनिर्भर भारत योजना एक आत्मबल एक आत्मरक्षक बनकर सामने आया है।

आत्मनिर्भर भारत योजना राहत पैकेज के तहत आर्थिक पैकेज के सभी सेक्टरों को ऊपर की ओर लेकर जायगा। इस आर्थिक पैकेज से भारत की मजदूरों, श्रमिको, बेरोजगारों, छोटे, मझौले बेरोजगारों,कारोबारियों, किसानो तथा 15000/रु वेतन से कम लोगो, MSME उद्योगधन्धे करने वाले व्यापारियों को लाभ पहुचेगा।

चूँकि Atmanirbhar Bharat अभियान एक केंद्र स्तरीय योजना है इसलिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी द्वारा यह पैकेज देश के सभी राज्यों में लागू किया गया है। देश के सभी राज्यों के covid -19 प्रभावित आबादी, मजदूर, किसान MSME उद्योगपति के तहत छोटे मझौले सभी कारोबारी इत्यादि इजाफा उठा रहे हैं है। साथ ही इस आर्थिक पैकेज का लाभ देश का हर जरूरतमंद नागरिक उठा सकता है। इस योजना का मुख्य उद्देश्य ही भारत की अर्थव्यवस्था तथा नागरिको को आत्मनिर्भर ,समृद्ध और संपन्न बनाना है।

आत्मनिर्भर भारत अभियान राहत पैकेज का लाभ

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा Atmanirbhar Bharat अभियान इसलिए launch किया गया ताकि भारत मे Corona Virus Lockdown की वजह से जो भारी नुकसान अर्थव्यवस्था को हुआ है उसकी भरपाई की जा सकें। क्योंकि कोरोना वायरस के कारण भारत आज बहुत साल पीछे चला गया है। भारतीय अर्थव्यवस्था ठप हो गयी है। इस प्रकार सारी व्यवस्था का एक बार एकाएक ठप हो जाने से भारत रक विकसित देश नही बन पाएगा। इस राहत पैकेज के माध्यम से सभी प्रकार की कमी हुई आर्थिक स्थिति को बड़ावा देना होगा उन्हें मजबूत करना ही इस योजना का मुख्य लक्ष्य है। ईसी बात को ध्यान में रखते हुए भारत को आत्मनिर्भर बनाने का प्रयास किया जाएगा।

इसलिए आत्मनिर्भर भारत अभियान केंद्र सरकार द्वारा लिया गया एक बहुत ही सफल और बड़ा कदम है। प्रधानमंत्री राहत पैकेज का लाभ उठाने के लिए प्रधानमंत्री आधिकारिक वेबसाइट pmindia. gov. in की मदद ले सकते है। इस योजना ला लाभ आज देश का हर कोई जरूरत मंद नागरिक ले सकता है।

कोरोना वायरस से पीड़ित या जिन परिवारों ने कोरोना वायरस से हानि उठाई है या परेशानियां झेल रहे हैं इस अभियान के माध्यम से आर्थिक पैकेज का लाभ उठा सकते है। साथ ही MSME उद्योगधन्धे करने वाले कारोबारियों के लिए भी यह बहुत लाभकारी है। MSME उद्योग के अंतर्गत मोदी सरकार ने इनके लिए भी महत्वपूर्ण घोषणाएं जारी कर दिए हैं।

आर्थिक राहत पैकेज क्या है?

चूँकि हम जानते है कि आज कोरोना वायरस की वजह से पूरा देश Lockdown है। Lockdown के प्रारम्भ में ही मोदी सरकार और माननीय वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण जी के द्वारा आर्थिक राहत पैकेज 12 मई 2020 को शाम 8:00 बजे पूरे राष्ट्र को संबोधित करते हुए लांच किया गया। यह योजना प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के अंतर्गत बनाया गया।

आर्थिक राहत पैकेज इस आत्मनिर्भर भारत योजना का बृहद स्वरूप है जहां एक ओर राहत पैकेज 1.70 लाख रुपये का था वही यह आर्थिक राहत पैकेज इस रकम का एक विस्तृत रूप है जिसमे राहत पैकेज, रिजर्व बैंक द्वारा दी गयी पैकेज तथा सरकार के द्वारा मिलने वाले अन्य श्रोतो से पैकेज इत्यादि को शामिल किया गया है। इसकी रकम इतनी बड़ी है जो आज तक किसी भारत सरकार द्वारा लांच नही किया है अर्थात इतनी बड़ी रकम आज तक भारत के इतिहास में नही दर्ज है।

इस पैकेज में 20 लाख करोड़ रुपये का आर्थिक राहत पैकेज लांच किया गया। जो भारत का JDP का दशवें हिस्से के बराबर है। JDP के लिहाज से यह दुनिया का पांचवां सबसे बड़ा राहत पैकेज है। इस आर्थिक राहत पैकेज के माध्यम से कमी हुई आर्थिक स्थिति को बढ़ाया जाएगा । कोरोना वायरस जैसे महामारी से जूझते हुए देश के नागरिकों को इस संकट में आर्थिक सहायता प्रदान किया जाएगा।

आत्मनिर्भर भारत अभियान के लाभुक कौन होंगे

आत्मनिर्भर भारत अभियान के तहत कोरोना वायरस से जूझ रहे पीड़ितों,मजदूरों, किसानों, गरीब लोग, छोटे-मझौले उद्योग धंधे करने वाले व्यापारी, कारोबारी, कम वेतन वाले व्यक्ति, श्रमिको, कोरोना वायरस की वजह से जिनकी नौकरी चली गयी हो या खत्म होने वाली हो , जिकन काम धंधा बंद हो गया हो इत्यादि इन सबके लिए आर्थिक राहत पैकेज को लांच किया गया है।

ये लोग मुख्य रूप से इस पैकेज के लाभुक होंगें। आत्मनिर्भर भारत अभियान के तहत सरकार ने इन सभी को आर्थिक मदद देने के लिए बहुत बड़ी रकम को जारी कर दी है। किसानों के लिए प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के तहत किसानों को भारी रकम के साथ लाभ पहुचाया जाएगा।

सूत्रों से यह जानकारी स्पष्ट की गई है कि श्रमिको को मनरेगा योजना के तहत और मजदूरों तथा बाहर से आये मजदूरों को प्रवासी मजदूर के तहत रोजगार ,स्वरोजगार और आर्थिक राहत पैकेज का लाभ दिया जाएगा। जो प्रति मजदूर ,प्रति किसान 15000/रु दिए जा सकते हैं।

इस बात की धोषणा भी इस योजना के तहत किया जा सकता है। जो अभी निर्णायक के अधीन है। हम नीचे विस्तार से बताने जा रहे हैं कि निम्नलिखित को। आर्थिक राहत पैकेज का लाभ मिलेगा-

  1. भारतीय जरूरतमंद नागरिक
  2. प्रवासी मजदूर
  3. किसान
  4. श्रमिक
  5. छोटे व्यापारी
  6. मझौले व्यापारी
  7. पशुपालक
  8. मत्स्य पालक
  9. बेरोजगार
  10. कुटीर उद्योग
  11. लघु उद्योग
  12. MSME उद्योगपति
  13. MSME के अंतर्गत कारोबारी
  14. मध्य वर्गीय उद्योगधन्धे करने वाले कारोबारी
  15. बेरोजगार शिक्षित व्यक्ति
  16. बेरोजगार महिलाएं

इस आर्थिक पैकेज से देश की पूरी जनसंख्या को लाभ पहुचाना ही आर्थिक राहत पैकेज का मुख्य उद्देश्य है। साथ ही राहत पैकेज का लाभ निम्नलिखित को मिलेगा-

  1. राशन कार्ड धारी सभी परिवारों को लाभ मिलेगा।
  2. गरीबी रेखा से नीचे जीवन बसर कर रहें नागरिको को लाभ मिलेगा।
  3. मनरेगा में काम करने वाले मनरेगा कार्ड धारियों को लाभ मिलेगा।
  4. विधवाओं, विक्लांको , बुजुर्गों, सभी पेंशन धरियों को लाभ मिलेगा।
  5. जन धन खाता धारक नागरीको को लाभ मिलेगा।
  6. प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना के तहत उज्ज्वला योजना से जुड़े महिलाओं को लाभ मिलेगा।
  7. MSMEs से जुड़े कर्मचारियों को लाभ मिलेगा।
  8. 10 करोड़ प्रवासी मजदूरों को लाभ मिलेगा
  9. इंडस्ट्री से जुड़े 3.8करोड़ मजदूरों, कर्मचारियों को लाभ मिलेगा।
  10. टेक्सटाइल इंडस्ट्री से जुड़े लगभग 4.5 करोड़ लोगो को लाभ मिलेगा।
  11. प्रधानमंत्री स्वनिधि योजना के अंतर्गत पैन बेचने वाले, नाईयो, मोची, कपड़ा धोने वाले , सड़क बिक्रेता तथा ऐसे ही अन्य लोगो को 10000रु का लाभ दिया जाएगा।

MSMEs के लिए Atmanirbhar Bharat योजना की मुख्य घोषणाएं

जिस प्रकार पूरे देश के कोरोना वायरस एक चुनौती बन गयी है कोरोना वायरस आज पूरे देश पर बहुत ही भारी सिद्ध हुई है। इस चुनौती का सामना करने के लिए MSMEs को सरकार ने 16 महत्वपूर्ण घोषणाएं को पूरा करने का निर्देश दिया है।

आइये थोड़ी सी चर्चा MSMEs के कर ले। MSME का फुल्लफॉर्म Micro Small Midium Employe होता है। जिसे हिंदी में सूक्ष्म लघु मध्यम उद्यम कर्मचारी कहते है। समान विकास और आर्थिक विकास को बढ़ावा देने के लिए इस सेक्टर का निर्माण किया गया था। यह MSMEs एक उद्योग है जो 12 हजार करोड़ से भी ज्यादा नागरिको को रोजगार उपलव्ध करवाता है।

इसलिए इसे देश की आर्थिक रीढ़ मन जाता है इसलिए सरकार ने आर्थिक राहत पैकेज लांच करके MSMEs को बहुत बड़ी राहत प्रदान करवाई है। इससे MSMEs को बहुत ही लाभ मिलेगा। MSMEs सेक्टर्स को आत्मनिर्भर भारत योजना के तहत 16 महत्वपूर्ण घोषणाओं का आदेश दिया गया है जो इस प्रकार है-

  1. MSMEs सहित व्यापार करने के लिए 3 लाख करोड़ रुपये का संपार्श्विक निःशुल्क स्वचालित ऋण
  2. MSMEs के लिए 20,000 करोड़ अधीनस्थ ऋण
  3. MSMs फंड के द्वारा 50,000/करोड़ रुपये Equity Infution
  4. 200 करोड़ रुपये का ग्लोबल टेंडर उपलव्ध कराया जाएगा।
  5. MSMEs के लिए नई परिभाषा
  6. MSMEs के लिए अन्य हस्तक्षेप
  7. EPF अंशदान 3 महीनों के लिए व्यापार और श्रमिको के लिए कम कर दिया जाएगा।
  8. व्यापार और श्रमिको को 2500 करोड़ रुपये के साथ 3 महीनों के लिए EPF समर्थन
  9. EPF के अंतर्गत योगदान की रकम व्यापारी और श्रमिको के लिए घटा दी गयी है जिसके ऊपर सरकार ने 6750 करोड़ रुपये का बजट रखा था।
  10. Discom के लिए 90000/ करोड़ की तरलता इनजंक्शन
  11. ठेकेदारों को भी राहत मिलेगा।
  12. RERA के अंतर्गत रियल स्टेट के अंतर्गत परियोजनाओं का पंजीकरण और पूर्णता तिथि का विस्तार
  13. NBFCS / HC/MFI के लिए 30,000 करोड़ रुपये की आंशिक गारंटी योजना
  14. NBFCS के लिए 45000/ करोड़ रुपये की आंशिक क्रेडिट गारंटी योजना।
  15. T2DS/TCS कटौती के माध्यम से 50000 करोड़ रुपये की तरलता
  16. अन्य प्रकार के कर उपाय

चूँकि सरकार अभी तक सिर्फ 7.79 लाख करोड़ की घोषणा कर चुकी है। लेकिन अभी 12.21लाख करोड़ रुपये की घोषणाएं नही हुई है। वही दूसरी ओर भरत की अपेक्षा अमेरिका, स्वीडन,जापान, ऑस्ट्रेलिया और जर्मनी ही आर्थिक राहत पैकेज को लेकर भारत से आगे हुए हैं।

आत्मनिर्भर भारत योजना का लाभ लेने के लिए आवेदन की जानकारी

सूत्रों के मुताबिक इस योजना का लाभ दोनो तरह से लिया जा सकता है। सरकार इसे ऑनलाइन प्राप्त करने हेतु आवेदन करने के लिए कदम उठा सकती है। या नागरिकों को स्वयम उनका चयन करके उन्हें लाभ पहुँचा सकती है या राज्य सरकार के माध्यम का भी प्रगोग कर समति है।हालांकि अभी तक यह बात स्पष्ट हक हुई है कि सरकार इसका लाभ देने के लिए लोगों से आवेदन, ऑनलाइन आवेदन लेगी या स्वयम ही जरूरतमंदो तथा लाभुकों को इस योजना का लाभ देगी।

चुकी योजना को हाल में ही लांच किया गया है और अभी केवल 7.79 लाख करोड़ रुपये की धोषणा हुई है अभी 12.21लाख करोड़ रुपये की घोषनाओं का स्कीम तैयार किया जा रहा है। त्तो कुल मिलाकर इसके बारे में अभी कोई सुनिश्चित जानकारी नही दी गई है।

क्या इस राहत योजना से भारत आत्मनिर्भर भारत बनेगा?

चुकी हम सब जानते है कि भारत आज से पहले भी बहुत सारी भयंकर महामारियों को मत दिया है। कितनी बीमारियों ने भारत के कर्मनिष्ठ योगदान के आगे घुटने टेके हैं। साथ ही आर्थिक स्थिति भी कमजोर हुई है।लेकिन Iन सब का सामना करते हुए भारत ने इनपर विजय प्राप्त किया है। इस बार कोरोना वायरस (covid-19) को भी जड़ से खत्म करने के लिए भारत सरकार प्रयत्न शील है।

और सामना करते हुए इस पर विजय पाने की हर मुश्किल से मुश्किल कार्य को अपनाया है। जैसे Lockdown (जन कर्फ्यू ) । इस Lockdown नामक Medicine के जरिये भरत जरूर covid -19 पर विजय प्राप्त करेगा। भारत का यह प्रयास है कि दुनिया भर में भारत ही सबसे पहले Covid-19 मुक्त भारत बनकर उभरे। क्योकि किसी भी देश को आत्मनिर्भर बनने के लिए पंच तत्व की आवश्यकता होती है।जो इस प्रकार है-

  1. अर्थव्यवस्था (Economics)
  2. आधारिक संरचना (Better Infrastracture )
  3. प्रणाली( System)
  4. जनसांख्यिकी (Demography)
  5. मांग और आपूर्ति (Demand and Supply)

और भारत ये पांचो तत्व मौजूद है। साथ ही भारत अब कोरोना वायरस को पीछे छोड़ते हुए इन पांचों तत्वों पर अपनी पकड़ बनाने में बहुत सहयोग दे रहा है। इसे मजबूती दे रहा है। इसलिए एक दिन भारत और सभी भारतीय जरूर इस मिशन के माध्यम से Atmanirbhar Bharat बनकर दुनिया के समाने होगा।

इसलिए कोई भी नागरिक अपने समर्थन में कमी नही लाये भारत को सहयोग दें अर्थात अपने स्तर से जो भीबन सके वह करे। क्योकि भारत का एक ही सपना है सब का साथ,सब का विकास। तो हम सब भारतवासी अपना अपना सहयोग दें और भारत को एक सशक्त और आत्मनिर्भर भारत बनाये।

उम्मीद है Atmanirbhar Bharat (आत्मनिर्भर भारत) अभियान के बारे में जानकारी पसंद आई होगी। आप इस जानकरी को अपने दोस्तों साथ शेयर जरूर करे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here